नई दिल्लीः पंजाब में आम आदमी पार्टी की प्रचंड जीत के बाद राज्य की सत्ता संभालते ही सीएम भगवंत मान एक के बाद एक चौंका देने वाले फैसले लिए जा रहे हैं. अब उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में बड़े सुधार के संकेत दे दिए हैं. उन्होंने आज बुधवार को स्कूलों को लेकर दो बड़े फैसले लिए हैं.

मनमाना फीस नहीं वसूल सकेंगे प्राइवेट स्कूल

सीएम मान ने बुधवार को शिक्षा पर दो बड़े फैसलों की घोषणा करते हुए कहा कि प्राइवेट स्कूल अब फीस नहीं बढ़ा सकेंगे. एक वीडियो संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा, ‘निजी स्कूल इस साल पंजाब में फीस नहीं बढ़ा सकते हैं, माता-पिता को विशेष दुकानों से किताबें, ड्रेस खरीदने के लिए नहीं कहा जा सकता है.’

प्राइवेट स्कूल नहीं बढ़ा सकेंगे फीस

पंजाब सरकार स्कूलों को इस सत्र में होने वाले एडमिशन में फीस बढ़ाने की अनुमति नहीं देगी. इसके साथ ही सीएम मान ने अपने फैसले में कहा है कि स्कूल अभिभावकों पर किसी खास दुकान से किताब और ड्रेस खरीदने का दबाव नहीं बनाएंगे. अभिभावक अपनी सहूलियत से किताब-ड्रेस कहीं से भी खरीद सकेंगे.

चुनाव में शिक्षा था अहम मुद्दा

बता दें कि पंजाब में आम आदमी पार्टी को मिली बड़ी जीत के पीछे शिक्षा का मुद्दा अहम रहा है. चुनाव के दौरान अरविंद केजरीवाल और सीएम भगवंत मान ने राज्य के सरकारी स्कूलों को सुधारने का वादा किया था. इसके अलावा अच्छी शिक्षा दिलाने की बात कही थी.

सीएम बनने के बाद मान ले चुके हैं कई बड़े फैसले

CM भगवंत मान इससे पहले 25 हजार सरकारी नौकरी और 35 हजार संविदा कर्मचारियों को परमानेंट करने का ऐलान कर चुके हैं. इसके अलावा भ्रष्टाचार रोकने के लिए एंटी करप्शन हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया है. वह लाभार्थियों के लिए राशन की डोरस्टेप डिलीवरी की घोषणा भी कर चुके हैं. इस फैसले के तहत सरकार खुद कार्डधारकों के घर तक राशन पहुंचाएगी.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment