2.5 C
London
Monday, March 4, 2024

गुरुग्राम में सभी 37 जगहों पर नमाज के लिए मुस्लिम संगठन एकजुट, हिन्दू संगठनों ने की विरोध का ऐलान

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

गुरुग्राम में नमाज विवाद के शांतिपूर्ण समाधान की खबरें आखिरकार निराधार साबित हुई है। एक बार फिर से नमाज प्रकरण पर हिन्दू संगठन और नमाजी आमने-सामने हैं। मुस्लिम एकता मंच ने जहाँ सभी 37 जगहों (जिन्हें 2018 में चिन्हित किया गया था) पर नमाज पढ़ने का एलान किया है, वहीं हिन्दू संघर्ष समिति ने इसके विरोध की घोषणा की है। इस बीच पुलिस ने भी सभी विवादित स्थलों पर अपनी तैनाती बढ़ा दी है। साथ ही कानून के उल्लंघन पर कठोर कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।

गौरतलब है कि पिछले 3 महीने से यह विवाद आए दिन उठ रहा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हिन्दू पक्ष के महावीर भारद्वाज ने कहा है कि किसी भी हाल में अब खुले में नमाज नहीं पढ़ने दी जाएगी। मुख्य रूप से सेक्टर-47, 12 ए, सेक्टर-18 के पार्क और सेक्टर-37 में टकराव की स्थिति पैदा होती रही है।

पिछले शुक्रवार को सेक्टर 37 में खुले में नमाज का विरोध कर रहे हिन्दू संगठन के दर्जन भर लोगों को हिरासत में भी लिया गया था। इस मामले में दिनेश ठाकुर को जेल भी भेजा गया था, जिनकी जमानत अभी तक नहीं हो पाई है। दिनेश ठाकुर भारत माता वाहिनी नाम का संगठन चलाते हैं और खुले में नमाज का लम्बे समय से विरोध कर रहे हैं।

गुरुग्राम इमाम एसोशिएशन के सुलह के फॉर्मूले को नकारने वाले गुरुग्राम मुस्लिम एकता मंच के हाजी शहज़ाद खान ने प्रशासन से सुरक्षा की माँग की है। DCP पश्चिम दीपक साहरण के अनुसार:

“जो भी कानून तोड़ेगा, उस से सख्ती से निबटा जाएगा। सभी थानों को अलर्ट मोड पर रखा गया है। नमाज वाले स्थानों पर बड़ी संख्या में फोर्स लगाई जाएगी।”

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here