Nupur Sharma Controversy: पैगंबर मोहम्मद साहब पर तथाकथित रूप से आपत्तिजनक बयान और टिप्पणी करने वाली नूपुर शर्मा लगातार एक पखवाड़े से भी अधिक समय से राष्ट्रीय के साथ अंतरराष्ट्रीय मीडिया में भी बनी हुई है।

एक टेलीविजन न्यूज चैनल पर तथाकथित रूप से आपत्तिजनक बयान के चलते पाकिस्तान में सबसे ज्यादा चर्चा में हैं। यह अलग बात है कि पाकिस्तान में मीडिया से लेकर आम लोग तक नूपुर शर्मा की आलोचना कर रहे हैं। इस बीच कट्टरपंथी समूहों की ओर से लगातार मिल रही जान से मारने की धमकी के चलते नूपुर शर्मा ने अपना मोबाइल नंबर स्विच ऑफ कर लिया है।

बताया जा रहा है कि नूपुर शर्मा को लगातार जान से मारने की धमकी कट्टरपंथी संगठनों की ओर से दी जा रही है। कुछ मानसिक रूप से विक्षिप्त लोगों ने नूपुर शर्मा को दुष्कर्म करने की भी धमकी दी है। इतना ही नहीं, धमकियों के मिलने का सिलसिला पिछले 20 से अधिक दिनों से लगातार जारी है। इसके चलते ही उन्होंने अपना मोबाइल फोन नंबर स्विच ऑफ कर लिया है।

विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने धरना दिया, राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा

वहीं, दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर में भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा को समर्थन भी जबरदस्त मिल रहा है। इस बीच बृहस्पतिवार को नूपुर शर्मा के बयान के विरोध में हिंसक प्रदर्शन करने वालों पर कार्रवाई की मांग को लेकर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के कार्यकर्ताओं ने धरना दिया। इस दौरान रेवाड़ी में राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी एसडीएम को सौंपा गया। धरने में बजरंग दल के कार्यकर्ता भी मौजूद रहे। इसके अलावा, हापुड़, फरीदाबाद, गाजियाबाद, पूर्वी, बाहरी दिल्ली समेत कई जगह कार्यकर्ताओं ने धरना दिया।

यह है पूरा मामला

यहां पर बता दें कि एक टीवी न्यूज चैलन के डिबेट के दौरान नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद को लेकर एक तथाकथित तौर पर आपत्तिजनक बयान दिया था। इस बयान का विरोध इस कदर हुआ कि यह हिंसा में बदल गया। इसके बाद देश के कई शहर में नूपुर शर्मा के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने, द्वेष फैलाने और दूसरे धर्म के खिलाफ टिप्पणी करने के आरोप में एफआईआर भी दर्ज हुई है। दिल्ली पुलिस ने हेट स्पीच को लेकर नूपुर शर्मा के अलावा नवीन कुमार जिंदल पर भी एफआइआर दर्ज की है।

वहीं, भारतीय जनता पार्टी ने 5 जून को नूपुर शर्मा को इस विवादित बयान की वजह से निलंबित भी कर दिया। पार्टी ने कहा कि वह सभी धर्मों का सम्मान करती है और किसी भी धर्म के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले बयान या टिप्पणी को स्वीकार नहीं करती है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment