उत्तर प्रदेश की बांदा जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी (Mafia Don Mukhtar Ansari) अब दादा बन गए है. मुख्तार के बेटे अब्बास अंसारी (Abbas Ansari) को पुत्र रत्न की प्राप्ति हुई है. रविवार को अब्बास अंसारी ने अपने की बेटे की तस्वीर सोशल मीडिया में शेयर की. इससे पहले एसटीएफ की जांच में अब्बास अंसारी को आर्म्स एक्ट (Arms Act) के उल्लंघन का दोषी पाया गया है. बता दें कि मऊ से बीएसपी विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी निशानेबाज भी रह चुके हैं.

दरअसल, शत्रु संपत्ति पर कब्जा करने के मामले में बाहुबली नेता और मऊ से विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी पर लखनऊ में केस दर्ज कर पुलिस तलाश कर रही था. जबकि 25 हजार रुपये के इनामिया अब्‍बास ने जयपुर में बड़ी शान-ओ-शौकत से निकाह भी कर लिया था. निकाह की सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद लखनऊ पुलिस की किरकिरी का सामना करना पड़ा था.

अंसारी ने जताया था अपनी जान को खतरा
इससे पहले बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी ने खुद की जान को खतरे में बताया था. मुख्तार ने आरोप लगाया था कि बांदा जेल में पेशेवर अपराधियों को सुपारी देकर उनकी हत्या कराने की साजिश रची जा रही है. मुख्तार के मुताबिक, इस साजिश में शासन, प्रशासन और जेल अधिकारी शामिल हैं, इसलिए उन्हें जेल में खास सुरक्षा मुहैया कराई जाए.

मऊ से विधायक हैं मुख्‍तार अंसारी
याद दिला दें कि मुख्तार अंसारी मऊ सदर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. 1999 में आगरा की सेंट्रल जेल में बंद मुख्तार अंसारी की बैरक में पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों ने छापा मारा था. वहां से मोबाइल और बुलेट प्रूफ जैकेट मिले थे. इस मामले में आगरा के जगदीशपुरा थाने में अंसारी के खिलाफ आपराधिक साजिश और धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था. पुलिस ने अंसारी के खिलाफ चार्जशीट अदालत में दाखिल की थी.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment