पूर्व गृह एवं वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने विदेशी फंडिंग को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय और भाजपा पर हमला बोला है। बुधवार को चिदंबरम ने कहा, पश्चिम बंगाल में मिशनरीज ऑफ चैरिटी के लिए भविष्य में विदेशी योगदान को नकारने से ज्यादा हैरान करने वाला कुछ नहीं हो सकता है।

यह मदर टेरेसा की स्मृति का सबसे बड़ा अपमान है, जिन्होंने भारत के ‘गरीबों और दुखियारों’ की देखभाल के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया। पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री चिदंबरम ने अपने ट्वीटर पर लिखा, देश में आज ‘मुस्लिम और ईसाई’, हिंदुत्व ब्रिगेड के निशाने पर हैं। 

एफसीआरए पंजीकरण को नहीं किया नवीनीकृत

पी चिदंबरम ने लिखा, गृह मंत्रालय का दावा है कि उसे ‘कुछ प्रतिकूल इनपुट’ मिले हैं। गृह मंत्रालय को अपने शेरलॉक होम्स जैसे कौशल का इस्तेमाल सांप्रदायिक हिंसा और आतंकवादी गतिविधियों को दबाने के लिए करना चाहिए, न कि ईसाई दान और मानवीय कार्यों को दबाने के लिए। साल 2021 के खत्म होते ही यह साफ हो गया है कि मोदी सरकार ने अपने बहुसंख्यकवादी एजेंडे को आगे बढ़ाने के लिए एक और लक्ष्य ‘ईसाई’ बना लिया है। कांग्रेस के वरिष्ठ चिदंबरम का आरोप है कि मुस्लिमों के बाद अब हिंदुत्व ब्रिगेड का नया निशाना ईसाई हैं। इसी वजह से मिशनरीज ऑफ चैरिटी के एफसीआरए पंजीकरण को नवीनीकृत करने से सरकार से इनकार कर दिया है। मुख्यधारा की मीडिया ने मिशनरीज ऑफ चैरिटी (एमओसी) से संबंधित गृह मंत्रालय की कार्रवाई की खबर को अपने पृष्ठों से हटा दिया। उन्होंने कहा, यह दुखद और शर्मनाक है। शेरलॉक होम्स, उन्नीसवीं सदी के उत्तरार्ध और बीसवीं सदी के पूर्वार्ध का एक काल्पनिक चरित्र रहा है।

राहुल गांधी बोले- इस्तीफा दे चुके होते मनमोहन

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से आयोजित तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के समापन सत्र में भी हिंदुत्व का मुद्दा उठाया था। राहुल ने कहा, कांग्रेस की लक्ष्मण रेखा सत्य है, जबकि भाजपा की लक्ष्मण रेखा सत्ता है। जिन लोगों ने पीएम मोदी के गलत निर्णयों के सामने सिर झुका दिया, वही हिंदुत्व है। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस शासन में चीन ने देश की हजार किलोमीटर जमीन पर अतिक्रमण नहीं किया। यदि कांग्रेस शासन में ऐसा होता तो हमारे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह बिना डर के सच्चाई स्वीकार करते हुए अपनी जिम्मेदारी के निर्वहन में असफल रहने पर इस्तीफा सौंप देते। दूसरी तरफ भाजपा नेता चीन को लेकर सच को छिपाने में लगे हैं। हिंदुत्व की विचारधारा मानने वाले लोग किसी के भी सामने सिर झुका देते हैं। इन लोगों ने अंग्रेजों के समक्ष सिर झुकाया है और आज पैसों के आगे झुक रहे हैं। इनके दिलों में कोई सच्चाई नहीं है। 

राहुल ने कहा, एक विचारधारा हिंदू है, जिसमें डर और नफरत को दिल से निकाल देने के लिए कहा गया है। देश के पहले पीएम जवाहर लाल नेहरू ने अनेक वर्षों तक जेल में रहने के बाद धन्यवाद देकर कहा उनके दिल में नफरत नहीं थी। महात्मा गांधी व नेहरू को कोई कायर नहीं कह सकता, क्योंकि उनके दिल में न तो डर था और न ही कोई नफरत। जो लोग समस्या का सामना खड़े होकर करते हैं, वही तो हिंदू हैं। 

राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी के तानाशाही निर्णयों का सामना डटकर किया है। हिंदुत्व की विचारधारा मानने वाले किसी के भी सामने सिर झुका देते हैं। कांग्रेस नेताओं के बयान पर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, कांग्रेस पार्टी की सरकारों ने हिंदू नेताओं को झूठे मामलों में फंसाने का काम किया है। कांग्रेस, देश की जनता से माफी मांगे। हिंदू संगठनों को बदनाम करने के लिए कांग्रेस पार्टी झूठी बात फैला रही है। भगवा आतंक, ये शब्द राहुल टीम का शब्द है। आज कांग्रेस पार्टी के नेता हिंदू और हिंदुत्व पर बोल रहे हैं ताकि ये समुदाय आपस में बंट जाए। भाजपा, हिंदुओं को विभाजित नहीं होने देगी। कांग्रेस पार्टी अपने मकसद में कभी सफल नहीं होगी।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment