मैक्सिको सिटी: कुख्यात मैक्सिकन ड्रग माफिया अल चापो (Mexican Drug Trafficker El Chapo) किसी जमाने में कितना ताकतवर था इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जेल में भी उसके सभी शौक पूरे होते थे. ड्रग लॉर्ड ने नाम से मशहूर अल चापो पर आई एक नई किताब (New Book) में कई खुलासे किए गए हैं. किताब में बताया गया है कि माफिया अलग-अलग लड़कियों से संबंध बनाने का आदी था और जेल भी अपने इस शौक को पूरा करता था.

कई कैदियों का किया था Rape

‘डेली स्टार’ की रिपोर्ट के अनुसार, अल चापो (El Chapo) को जेल (Prison) में सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाती थीं. वो सेल में ही वियाग्रा जैसी यौन शक्ति बढ़ाने वाली दवाओं का सेवन करता था. इतना ही नहीं, उसने जेल में रहते हुए कुछ महिला कैदियों का रेप भी किया था. किताब में बताया गया है कि ड्रग माफिया सेक्स एडिक्ट था और एक बार उसने अपने साथी से शर्त लगाई थी कि कौन कितनी देर तक सेक्स कर सकता है.

रेस्टोरेंट से खाना भी मंगवाता था

पत्रकार एनाबेल हर्नांडेज़ (Anabel Hernandez) ने अपनी किताब ‘Emma and the Other Narco Women’ में लिखा है कि अल चापो अपनी सेल में रेस्टोरेंट से खाना भी मंगवाया करता था. किताब के अनुसार, मैक्सिको की Puente Grande जेल में रहने के दौरान ड्रग माफिया ने अपने सभी शौक पूरे किए. ड्रग्स और सेक्स से लेकर लजील फूड तक उसे सबकुछ उपलब्ध कराया जाता था. उसके लिए Prostitutes मंगवाई जाती थीं और जब ये संभव नहीं होता था तो जेल में काम करने वालीं नर्स, सफाईकर्मी और खाना पकाने वाली महिलाओं को उसके पास भेजा जाता था. इसके लिए उन्हें पैसे भी दिए जाते थे.

इनकार पर की महिला की पिटाई 

किताब में एक घटना का जिक्र करते हुए बताया गया है कि जब एक महिला कैदी ने अल चापो की इच्छा पूरी करने से इनकार किया, तो उसे बेरहमी से मारा गया और बाद में ड्रग माफिया ने उसका बलात्कार किया. गौरतलब है कि अल चापो का असली नाम जोकिन आर्किवाल्डो गुजमैन लोएरा है. उसे 1993 में एक कैथोलिक बिशप की मौत की हत्या के मामले में जेल भेजा गया था, लेकिन कुछ साल बाद वो वहां से भाग निकला. बाद में उसे फिर से पकड़ा गया और अब वो अमेरिका कोलोराडो की हाई सिक्योरिटी जेल में उम्र कैद की सजा काट रहा है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment