12.8 C
London
Sunday, April 14, 2024

हैकर्स ने पीएम मोदी के ट्विटर अकाउंट के साथ की छेड़छाड़

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नई दिल्लीप्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने रविवार को जानकारी दी कि हैकर्स ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi Twitter Handel) के ट्विटर हैंडल से ‘छेड़छाड़’ की हालांकि समय रहते ही इस पर नियंत्रण पा लिया गया. पीएमओ ने ट्वीट किया, ‘पीएम नरेंद्र मोदी के ट्विटर हैंडल से छेड़छाड़ हुई. तुरंत ही मामले की जानकारी ट्विटर को दी गई और अकाउंट को सुरक्षित कर लिया गया. अकाउंट से छेड़छाड़ के दौरान किए गए किसी भी ट्वीट को नजरअंदाज किया जाए.समाचार एजेंसी ANI के अनुसार प्रधानमंत्री का ट्विटर अकाउंट अब बहाल कर दिया गया है और गलत ट्वीट्स को हटा दिया गया है. माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट पर पीएम मोदी के 73.4 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर्स हैं.

पीएम मोदी के अकाउंट से छेड़छाड़ होने के बाद भारत में #Hacked ट्रेंड करने लगा. कई यूजर्स द्वारा ट्विटर पर साझा किए गए स्क्रीनशॉट के अनुसार, पीएम मोदी के खाते से किए गए ट्वीट में दावा किया गया था कि ‘भारत ने आधिकारिक तौर पर बिटकॉइन को कानूनी करेंसी के रूप में अपना लिया है.’

ANI के अनुसार इसी ट्वीट का स्क्रीनशॉट लगाते हुए भारतीय युवा कांग्रेस के नेता श्रीनिवास ने लिखा रविवार सुबह 3.07 बजे लिखा- ‘गुड मॉर्निंग मोदी जी, सब चंगा सी ?,’ तहसीन पूनावाला ने भी  कहा, ‘क्या माननीय पीएम श्री नरेंद्र मोदी जी का ट्विटर अकाउंट हैक कर #Bitcoin का वादा किया गया!!’

यूजर का सवाल -प्रधानमंत्री तक का अकाउंट सेफ नहीं?
ANI के मुताबिक एक अन्य ट्विटर यूजर वेद ने लिखा,’ पीएम मोदी का अकाउंट हैक. कृपया लिंक पर क्लिक न करें. यह एक फर्जीवाड़ा है.  पीएम तक का अकाउंट भी सेफ नहीं है तो भारतीयों का  सोशल मीडिया अकाउंट हैकर्स, मैनिपुलेटर्स, स्कैमर्स और विदेशी प्रभाव से कितना सुरक्षित है? ट्विटर वेरिफाइड की सिक्योरिटी से छेड़छाड़ हुई?’

इससे पहले सितंबर 2020 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निजी वेबसाइट और मोबाइल ऐप को अपडेट करने वाले ट्विटर अकाउंट को एक अज्ञात समूह ने हैक कर लिया था.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here