वडोदरा: गुजरात में विदेशी फंडिंग (Foreign Funding)  के जरिए एक चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा कथित तौर पर धर्म परिवर्तन कराने के मामले में गुजरात पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दायर की है. इसमें केस में मुख्य आरोपी बनाए गए व्यक्ति पर वडोदरा में पैसों का इस्तेमाल करके 100 से 200 हिंदू लड़कियों को इस्लाम (Islam) कबूल करवाकर उनकी शादी कराने का आरोप है. इस मामले में वडोदरा पुलिस ने मंगलवार को आरोप पत्र दाखिल किया. जिसमें धार्मिक ट्रस्ट के मैनेजिंग ट्रस्टी और उसके सहयोगियों पर विदेशी फंडिंग के जरिए गैरकानूनी तरीके से लोगों को इस्लाम कबूल करवाने, मस्जिद बनवाने और एंटी नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शनकारियों और दिल्ली दंगों के आरोपियों को मदद पहुंचाने का आरोप है.1860 पेज की इस चार्जशीट में, 5 नामजद आरोपी हैं.

इसके अलावा वडोदरा स्थित एएफएमआई चैरिटेबल के मैनेजिंग ट्रस्टी सलाउद्दीन शेख के करीबी सहयोगी, गौतम पर भी ट्रस्ट के फंड की मदद से विभिन्न समुदाय के करीब 1 हजार लोगों का धर्म परिवर्तन कराने का आरोप है.

दो आरोपियों को भगोड़ा घोषित किया गया

पुलिस ने बताया कि, जिन लोगों को इस्लाम धर्म में परिवर्तित किया गया है उनमें से करीब 10 लोग बहरे हैं जो कि सुन नहीं पाते हैं.

वहीं इस मामले में गौतम, शेख और मोहम्मद मंसूरी, जो कि शेख के लिए काम करते थे, उन्हें पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. वडोदरा पुलिस ने भरुच जिले के रहने वाले लंदन स्थित अब्दुल्ला फाफडावाला और यूएई के निवासी मुस्तफा थानावाला को भगोड़ा घोषित किया है.

गौतम को यूपी एसटीएफ ने इस साल जून में लोगों को धोखे से इस्लाम धर्म में परिवर्तित कराने के आरोप में गिरफ्तार किया था.

बता दें कि अगस्त में वडोदरा पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने इस मामले में शेख, गौतम और अन्य आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी. जिसमें विभिन्न समुदायों के बीच धार्मिक द्वेष को बढ़ावा देना, जालसाजी और आपराधिक साजिश रचने से जुड़ी विभिन्न धाराओं के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. वडोदरा पुलिस का कहना है कि शेख और गौतम दोनों आरोपियों की कस्टडी इस माह की शुरुआत में यूपी एटीएस से मिल गई थी और वे दोनों अभी न्यायिक हिरासत में हैं.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment