गोरखपुर: लेडी डॉन ने दी योगी आदित्यनाथ और गोरखनाथ मंदिर को “बम से उड़ाने की धमकी”, जांच में जुटी पुलिस

मनोरंजनगोरखपुर: लेडी डॉन ने दी योगी आदित्यनाथ और गोरखनाथ मंदिर को "बम से उड़ाने की धमकी", जांच में जुटी पुलिस

उत्तर प्रदेश (UP Assembly Election) में शुक्रवार आधी रात सीएम योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath ) और गोरखनाथ मंदिर ( Gorakhnath Temple ) को बम ( Bomb ) से उड़ाने की धमकी मिली.

धमकी मिलते ही पुलिस (Gorakhpur Police) प्रशासन में हड़कंप मच गया. लेड़ी डॉन नाम से बने ट्विटर एकाउंट से मेरठ के साथ ही लखनऊ स्थित विधानसभा को भी उड़ाने की धमकी दी गई. सूचना मिलने के बाद पुलिस ने एहतियातन गोरखनाथ मंदिर के आसपास गाड़ियों की जांच की है. पुलिस ने इस मामले में केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

जानकारी के अनुसार लेडी डॉन नाम के ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक तीन ट्वीट किए गए पहले ट्वीट में लिखा गया कि विधानसभा, लखनऊ रेलवे स्टेशन और बस अड्डा पर बम लगा दिया गया है. योगी आदित्यनाथ की भी हत्या हो जाएगी. एक घंटा बाद भीम सेना की अध्यक्ष सीमा सिंह योगी आदित्यनाथ को मानव बम बनकर मारेगी. राशिद ने बम लगा दिया है.

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस हरकत में आई. इसी बीच ट्वीट किया गया कि गोरखनाथ मठ में आठ जगह सुलेमान भाई ने बम लगा दिया है. इससे योगी आदित्यनाथ के चीथड़े उड़ जाएंगे. ट्वीट में एक बार फिर सीमा सिंह के नाम का इस्तेमाल किया गया था. एक घंटे बाद पिर ट्वीट हुआ और मेरठ में दस जगह बम ब्लास्ट की बात लिखी गई.

जांच कर रही है पुलिस

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार एसएसपी डॉ. विपिन ताडा ने कहा कि उन्हें मामले की जानकारी मिली है. मंदिर और अन्य जगहों की जांच कराई गई. कहीं कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला है. किसी की शरारत लग रही है. केस दर्ज कर पुलिस जांच कर रही है.

आज जारी होगा संकल्प पत्र

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 10 फरवरी को 58 सीटों के लिए पहले चरण का मतदान है. इससे पहले बीजेपी रविवार यानी आज प्रदेश की जनता के सामने अपना संकल्प पत्र पेश करेगी. पार्टी के इस संकल्प पत्र के केंद्र में गरीब, किसान औऱ महिलाएं होंगी. इसके अलावा नए रोजगार सृजन पर भी फोकस होगा. पार्टी खासतौर से कृषि क्षेत्र को मिलने वाली बिजली को लेकर भी कोई महत्वपूर्ण वादा कर सकती है. सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि साल 2017 में बीजेपी ने जो कहा वो उनकी सरकार ने पूरा किया है. इसे तैयार करने के लिए बीजेपी ने वित्तमंत्री सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में समिति गठिक की थी. समिति के सदस्यों ने प्रदेश के अलग-अलग जिलों का दौरा करके अलग-अलग वर्गों के प्रतिनिधियों से राय-मशवरा किया था

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles