11.2 C
London
Thursday, February 29, 2024

गैंगस्टर ‘लॉरेंस विश्नोई’ ने कबूला हां मेरी गैंग ने ‘सिद्धू मूसेवाला’ को ‘मारा’, बताई वजह

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने पहली बार चुप्पी तोड़ी है. दिल्ली पुलिस की पूछताछ में लॉरेंस बिश्नोई ने कबूल किया कि हां हमारे गैंग मेंबर ने मूसेवाला को मरवाया है. इसके साथ ही लॉरेंस बिश्नोई ने कहा कि कॉलेज के वक्त से विक्की मिददुखेड़ा मेरा बड़ा भाई था, हमारे ग्रुप ने उसकी मौत का बदला लिया है. 

तिहाड़ जेल में बंद गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने कहा, ‘ये काम इस बार मेरा नहीं है, क्योंकि मैं जेल में लगातार बंद था और फोन का इस्तेमाल नहीं कर रहा था, लेकिन मैं कबूल करता हूं कि सिद्धू मूसेवाला की हत्या में हमारे गैंग का हाथ है.’ लॉरेंस ने यह कबूल किया कि पंजाब का एक मशहूर सिंगर भी उसका भाई है, जिसका नाम आजतक के पास है, लेकिन सुरक्षा कारणों से उजागर नहीं कर रहे हैं.

दिल्ली पुलिस की पूछताछ के दौरान गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई ने कहा कि मुझे तो सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के बारे में तिहाड़ जेल में टीवी देखकर पता चला था. लॉरेंस बिश्नोई के इस कबूलनामे से साफ हो गया कि कनाडा में बैठे गोल्डी बराड़ के अलावा उसके गैंग को जेल के बाहर से ऑपरेट करने वाला सचिन बिश्नोई भी सिद्धू मूसेवाला की हत्या में शामिल था. 

मूसेवाला हत्याकांड के कई कनेक्शन सामने आ चुके

मनसा में पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला के क़त्ल को 5 दिन हो गए. क़त्ल में पंजाब से लेकर दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश… यहां तक कि कनाडा तक का कनेक्शन सामने आ गया. क़त्ल से पहले सिद्धू के घर के बाहर रेकी करते हुए और फिर क़त्ल के बाद भागती गाड़ियों की सीसीटीवी तस्वीरें भी मिल गईं.

यहां तक कि क़त्ल के बाद भागने के लिए लुटेरों ने जो ऑल्टो कार लूटी थी, पुलिस ने वो भी बरामद कर ली. उधर, छंटे हुए गैंगस्टरों ने क़त्ल में अपना हाथ होने की बात भी सोशल मीडिया पर ख़ुद ही कबूल कर ली, लेकिन इतने सारे सुराग होने के बावजूद पुलिस के हाथ अब तक शूटर्स तक नहीं पहुंचे. फिलहाल पुलिस लॉरेंस बिश्नोई से पूछताछ कर रही है.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here