17.1 C
Delhi
Wednesday, February 8, 2023
No menu items!

15 मई से 15 जून तक व्हाट्सप्प ने 2 मिलियन इंडियन एकाउंट बन्द किये।

- Advertisement -
- Advertisement -

By Sahil Razvii | Reportlook.Com

व्हाट्सएप ने दो मिलियन भारतीय खातों पर प्रतिबंध लगा दिया, जबकि उसे 15 मई से 15 जून के बीच 345 शिकायत रिपोर्ट मिली, कंपनी ने आईटी नियमों द्वारा अनिवार्य अपनी पहली मासिक अनुपालन रिपोर्ट में कहा।

- Advertisement -

नए आईटी नियमों के लिए बड़े डिजिटल प्लेटफॉर्म की आवश्यकता होती है – पांच मिलियन से अधिक उपयोगकर्ताओं के साथ – हर महीने अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करने के लिए, जिसमें प्राप्त शिकायतों और की गई कार्रवाई का विवरण होता है।

‘हमारा मुख्य फोकस खातों को बड़े पैमाने पर हानिकारक या अवांछित संदेश भेजने से रोकना है।

व्हाट्सएप ने गुरुवार को कहा, हम संदेशों की उच्च या असामान्य दर भेजने वाले इन खातों की पहचान करने के लिए उन्नत क्षमताओं को बनाए रखते हैं और 15 मई से 15 जून तक अकेले भारत में 20 लाख खातों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

व्हाट्सएप ने स्पष्ट किया कि 95 प्रतिशत से अधिक ऐसे प्रतिबंध स्वचालित या बल्क मैसेजिंग (स्पैम) के अनधिकृत उपयोग के कारण हैं।

व्हाट्सऐप ने रिपोर्ट में कहा, ‘रिपोर्टिंग अवधि के 30-45 दिनों के बाद हम रिपोर्ट के बाद के संस्करणों को प्रकाशित करने की उम्मीद करते हैं ताकि डेटा संग्रह और सत्यापन के लिए पर्याप्त समय मिल सके।

फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी ने बताया कि 2019 के बाद से प्रतिबंधित खातों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है क्योंकि सिस्टम के परिष्कार में वृद्धि हुई है, और ‘इसलिए हम अधिक खातों को पकड़ रहे हैं, जबकि हमारा मानना ​​​​है कि बल्क या स्वचालित संदेश भेजने के अधिक प्रयास हैं’।

इसमें कहा गया है कि इनमें से अधिकांश खातों को किसी भी उपयोगकर्ता रिपोर्ट पर भरोसा किए बिना, सक्रिय रूप से प्रतिबंधित कर दिया गया है।

प्रति माह औसतन लगभग आठ मिलियन खाते विश्व स्तर पर प्रतिबंधित/अक्षम हैं।

व्हाट्सएप ने कहा कि खातों से व्यवहारिक संकेतों के अलावा, यह उपलब्ध ‘अनएन्क्रिप्टेड जानकारी’ पर निर्भर करता है जिसमें उपयोगकर्ता रिपोर्ट, प्रोफाइल फोटो, समूह फोटो और विवरण के साथ-साथ उन्नत एआई टूल और संसाधन शामिल हैं जो अपने प्लेटफॉर्म पर दुरुपयोग का पता लगाने और रोकने के लिए हैं।

रिपोर्ट में, व्हाट्सएप ने कहा कि उसे कुल 345 रिपोर्ट मिलीं, जिसमें प्रतिबंध अपील, खाता समर्थन, उत्पाद समर्थन, सुरक्षा मुद्दों और अन्य जैसी श्रेणियों में कटौती की गई।

इसके खिलाफ 15 मई से 15 जून 2021 के दौरान व्हाट्सएप द्वारा 63 खातों पर ‘कार्रवाई’ की गई।

व्हाट्सएप ने कहा कि शिकायत चैनल के माध्यम से प्लेटफॉर्म द्वारा प्राप्त उपयोगकर्ता रिपोर्टों का मूल्यांकन किया जाता है और उनका जवाब दिया जाता है।

इसमें कहा गया है कि व्हाट्सएप तक पहुंचने वाले अधिकांश उपयोगकर्ता या तो अपने खाते को प्रतिबंधित करने या उत्पाद या खाता समर्थन के लिए पहुंचने के बाद अपने खाते को बहाल करने का लक्ष्य बना रहे हैं।

‘एकाउंट्स एक्शन्ड’ उन रिपोर्टों को दर्शाता है जहां व्हाट्सएप ने रिपोर्ट के आधार पर उपचारात्मक कार्रवाई की। कार्रवाई करना या तो किसी खाते पर प्रतिबंध लगाना या शिकायत के परिणामस्वरूप पहले से प्रतिबंधित खाते को बहाल करना दर्शाता है।

आईटी नियम – जो 26 मई को लागू हुआ – अनिवार्य है कि महत्वपूर्ण डिजिटल प्लेटफॉर्म में विशिष्ट संचार लिंक या जानकारी के कुछ हिस्सों की संख्या शामिल है जो वे स्वचालित उपकरणों का उपयोग करके सक्रिय रूप से हटाते हैं।

गूगल, कू और ट्विटर जैसे अन्य प्लेटफॉर्म पहले ही अपनी अनुपालन रिपोर्ट जमा कर चुके हैं। इंस्टाग्राम और फेसबुक ने भी अपनी रिपोर्ट सौंप दी है।

आईटी नियमों को डिजिटल प्लेटफॉर्म के दुरुपयोग और दुरुपयोग को रोकने के लिए डिजाइन किया गया है, और उपयोगकर्ताओं को शिकायत निवारण के लिए एक मजबूत मंच प्रदान करता है।

इन नियमों के तहत, सोशल मीडिया कंपनियों को 36 घंटे के भीतर फ़्लैग की गई सामग्री को हटाना होगा और 24 घंटे के भीतर नग्नता और अश्लीलता के लिए फ़्लैग की गई सामग्री को हटाना होगा।

नियम तीन प्रमुख कर्मियों – शिकायत अधिकारी, मुख्य अनुपालन अधिकारी और नोडल अधिकारी की नियुक्ति को भी अनिवार्य करते हैं। इन अधिकारियों को भारत में निवासी होना चाहिए। आईटी नियमों का पालन न करने के परिणामस्वरूप इन प्लेटफार्मों को अपनी मध्यस्थ स्थिति खोनी पड़ेगी जो उन्हें उनके द्वारा होस्ट किए गए किसी भी तीसरे पक्ष के डेटा पर देनदारियों से प्रतिरक्षा प्रदान करती है।

- Advertisement -
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here