5.5 C
London
Saturday, March 2, 2024

इस्तीफे के बाद भी स्‍वामी प्रसाद मौर्य के घर पर क्यों लगी हैं BJP नेताओं की तस्‍वीरें, इस सवाल पर दिया ये जवाब

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नई दिल्ली: स्वामी प्रसाद मौर्य के बीजेपी (BJP) से इस्तीफे के बाद यूपी के सियासी गलियारों में उठा तूफान अभी थमा नहीं है. हर मुश्किल सवाल के जवाब में आने वाली 14 तारीख का हवाला देने वाले मौर्य ने ज़ी न्यूज़ के सवालों का जवाब भी दिया है. ज़ी न्यूज़ संवाददाता रवि त्रिपाठी से हुई बातचीत में उन्होंने कहा कि इस्तीफा देने के बाद उन्होंने अभी तक किसी बीजेपी नेता का फोन नहीं उठाया है. हालांकि उन्होंने यह जरूर दोहराया कि कमान से निकला तीर और राजनीति में लिया फ़ैसला वापस नहीं हो सकता है.

केशव छोटे भाई उस पर कमेंट नहीं: मौर्य

मुश्किल सवालों के ज्वार भांटे के बीच ये भी कहा गया कि स्वामी प्रसाद मौर्य का ये फ़ैसला बीजेपी सरकार के ताबूत में आखिरी कील साबित होगा. इसी दौरान समाज की राजनीति को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘केशव प्रसाद मौर्य मेरे छोटे भाई हैं, इसीलिए मैं उनपर कोई कमेंट नहीं करूंगा. लेकिन आज ये जरूरत क्यों पड़ी. अब आप नेताओं की आरती उतार रहे हैं. पहले क्यों नहीं किया? बीजपी (BJP) नेताओं को अब अपने फैसले पर अफसोस जरूर हो रहा होगा.’

मेरा फैसला बनाता और बिगाड़ता है UP की तस्वीर: मौर्य

स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, ‘मेरा जो भी फ़ैसला होता है वो उत्तरप्रदेश की तस्वीर बिगाड़ने और बदलने के लिए काफ़ी होता है. उन्होंने दावे के साथ कहा कि इसका मतलब यह है कि उत्तर प्रदेश में सरकार बदलने वाली है. कल शाम तक मैं अपने समर्थकों से बातचीत कर आखिरी फ़ैसला ले लूंगा. हमारा फैसला व्यक्तिगत नहीं होता है बल्कि सामूहित होता है.’

वहीं बीजेपी छोड़ने के सवाल पर वह बोले कि राजनीति में कोई घरेलू विवाद नहीं होता और ना ही गुस्सा 1 दिन में आता है. बीते पांच सालों में जो जनविरोधी नीतियां रही हैं. उसका प्रतिकार में कैबिनेट में भी करता रहा, साथ ही साथ हम उचित प्लेटफार्म पर भी अपनी बात को रखते रहे. लगातार 5 साल तक इन लोगों ने जन विरोधी नीतियों के प्रति कार्य के लिए कोई उपाय नहीं किया. 

सवाल: बीजेपी नेताओं के फ़ोटो आपके कमरे में लगे हुए हैं अभी भी क्या कहेंगे?

मौर्य: लगा है लगे रहने देना चाहिए… अगर आप चाहते हैं तो हटा दिया जाएगा.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here