11.9 C
London
Tuesday, May 21, 2024

गुजरात में फर्जी आईपीएल का खेल, मजदूरों को 400 रुपये देकर खिलाया मैच; रूस से जुड़े तार 

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

आपने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और आईपीएल जैसे क्रिकेट मैचों में सट्टा लगाने की कई घटनाएं देखी और सुनी होंगी. लेकिन, अब गुजरात में एक ऐसे फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ है, जहां एक फर्जी आईपीएल (IPL) चल रहा था. गुजरात के मेहसाणा जिले के वडनगर में चल रहे इस फर्जी आईपीएल में रूस के लोगों को भी सट्टेबाजी के जाल में फंसा लिया गया. अब पुलिस ने इसका खुलासा किया है और 4 लोगों को गिरफ्तार किया है.

मजदूरों को 400 रुपये देकर खिलाया मैच

इस फर्जी क्रिकेट लीग को आयोजित करने के लिए खेत को किराए पर लिया गया था और मैच खेलने के लिए मजदूरों को प्रति मैच 400 रुपये दिए गए. मैच के दौरान मजदूरों को जर्सियां पहनाकर मैदान में उतारा गया और फर्जी अंपायर भी रखे गए, जो पूरा मैच खिलाते. मैच के दौरान पीछे से ऑडियो इफेक्ट भी बजाए जाते थे. सब मिलाकर पूरी कोशिश थी कि लोगों को लगे की सच का आईपीएल चल रहा है.

YouTube पर होता था मैच का सीधा प्रसारण

इस फर्जी आईपीएल मैच (Fake IPL Match) को शूट करने के लिए एचडी कैमरे लगाए गए थे और मैचों का सीधा प्रसारण यूट्यूब पर किया जा रहा था.  इसके लिए CRICHEROES नाम के ऐप पर सेंचुरी हीटर नाम की टीम को रजिस्टर किया गया था.

खिलाड़ियों को दिए गए थे एक-एक निर्देश

पुलिस ने बताया कि शोएब दावड़ा नाम के व्यक्ति ने सट्टे के लिए पूरा मैदान तैयार किया था और 20-20 ओवर का मैच खेला जा रहा था. मैच खेलने वाले सभी खिलाड़ियों को पहले से ही निर्देश दिया गया था कि कैसे खेलना है, कब आउट होना है और कब कितने रन बनाना है.

रूस से जुड़े फर्जी आईपीएल के तार

गुजरात में चल रहे इस फर्जी आईपीएल के तार रूस से जुड़े हैं और पता चला है कि ठगों ने रूस के तीन शहरों टवेर, वोरोनिश और मॉस्को के लोगों को अपने जाल में फंसा सट्टेबाजी कराया. मेहसाणा पुलिस ने गुप्त सूचना पर पूरे रैकेट को दबोच लिया है और अब तक 3 लाख रुपये के साथ 4 लोगों को मौके से गिरफ्तार किया है.

अंतरराष्ट्रीय रैकेज हो सकता है शामिल

मेहसाणा पुलिस इस फर्जी लीग मैच के जरिए चल रही सट्टेबाजी की जांच कर रही है और 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. पुलिस का कहना है कि इस सट्टेबाजी में किसी अंतरराष्ट्रीय रैकेट का नाम आने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here