नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी के नेताओं को षड्यंत्र के तहत फंसाने का पर्दाफाश हो गया है। ईडी ने हाईकोर्ट में कहा है कि सत्येंद्र जैन आरोपी नहीं हैं। इसके बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार ने खुद ही कोर्ट में बोल दिया कि सत्येंद्र जैन आरोपी नहीं हैं।

जब आरोपी ही नहीं हैं तो भ्रष्ट कैसे हुए। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने यह सवाल करते हुए कहा कि ईडी ने हाईकोर्ट में कहा है कि सत्येंद्र जैन के खिलाफ कोई एफआईआर और शिकायत नहीं है।उन्होने कहा कि भाजपा शासित केंद्र सरकार की एजेंसी ईडी एक ऐसी संस्था बनती जा रही है, जिसके जरिए विपक्ष के नेताओं को अपमानित किया जा रहा है और जेल में डाला जा रहा है। मोदी सरकार की ईडी विजय माल्या, ललित मोदी, नितिन सन्देसरा, येदियुरप्पा, व्यापम के घोटालेबाजों, ईश्वरप्पा जैसों पर कार्रवाई नहीं करती है।

संजय सिंह ने कहा कि भाजपा को केजरीवाल सरकार और सत्येंद्र जैन से परेशानी यह है कि कैसे मोहल्ला क्लीनिक बना रहे हैं, दिल्ली के हेल्थ सिस्टम की चर्चा क्यों पूरे देश में हो रही है, उन्होंने कहा कि लोअर कोर्ट का आदेश था कि वकील साथ में रहेगा। इसके खिलाफ ईडी ने हाई कोर्ट में जाकर कहा कि अलग से पूछताछ करनी है, जबकि हकीकत में सत्येंद्र जैन को प्रताडि़त करना इसका मकसद है। आम आदमी पार्टी के नेताओं पर हजारों बार कार्रवाई हुई, लेकिन पीएम मोदी की कठपुतली को खुद क्लीनचिट देनी पड़ी है। इस मामले में भी बाद में कहेंगे कि कुछ नहीं मिला।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment