फतेहाबाद. जिले के गांव दौलतपुर में आज किसान आंदोलन (Kisan Aandolan) को लेकर एक बड़ी पंचायत का आयोजन किया गया जिसमें भाजपा के नेता शामिल हुए. इस पंचायत में फतेहाबाद से पूर्व विधायक एवं वरिष्ठ भाजपा नेता बलवान सिंह दौलतपुरिया (Balwan Singh Daulatpuriya) ने पार्टी छोड़ने का ऐलान करते हुए कहा कि आज किसान और भाईचारे को बचाने का समय है. इसलिए आज मैं अपने साथियों के साथ बीजेपी से अपना त्यागपत्र देता हूं और किसान आंदोलन को मजबूत करने के लिए काम करूंगा.

पार्टी छोड़ने के साथ ही पूर्व विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया ने अपनी गाड़ी से बीजेपी की झंडी को हटा दिया और किसानों का झंडा लगाया. पूर्व विधायक ने जैसे ही गाड़ी से बीजेपी की झंडी उतारी तो उनके समर्थकों ने बीजेपी के झंडे को पैरों तले रौंद कर अपना विरोध जताया. पार्टी छोड़ने के साथ-साथ पूर्व विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया ने बड़ा ऐलान यह भी किया कि किसान आंदोलन में दिल्ली बॉर्डर पर बैठे किसानों को समर्थन देने के लिए गांव के हर घर से एक सदस्य की मौजूदगी लेकर एक बड़ा काफिला दिल्ली रवाना होगा और रणनीति बनाकर मैं खुद भी दिल्ली जाऊंगा.

कई भाजपा नेता किसान आंदोलन के समर्थन में

भाजपा छोड़कर छोड़ कर पूर्व विधायक बलवान दौलतपुरिया द्वारा किसानों को समर्थन दिए जाने के बाद इलाके के राजनीतिक गलियारों में बड़ी चर्चा जोरों पर है और बीजेपी में खलबली मच गई है. पूर्व विधायक बलवान सिंह दौलतपुरिया की माने तो कई भाजपा नेताओं से पार्टी में रहते हुए उनकी किसान आंदोलन को लेकर बातचीत हुई और कई भाजपा नेता किसान आंदोलन के समर्थन में है और पार्टी कृषि कानूनों के विरोध में पार्टी को अलविदा कहने की तैयारी कर रहे हैं.

बोले- मैं एक किसान परिवार से हूं

बलवान सिंह दौलतपुरिया ने कहा कि मैं एक किसान परिवार से हूं और कृषि कानून किसानों के खिलाफ बनाए गए हैं. इसलिए हमारी मांग है कि बीजेपी इस बात को समझे कि किसानों की जगह सड़क पर नहीं है, किसान खेत खलियान में होना चाहिए लेकिन सरकार की तानाशाही के कारण किसान आज सड़क पर बैठने को लेकर मजबूर है. हम भी आज किसानों के समर्थन में पार्टी छोड़कर आंदोलन को मजबूत करने के लिए रणनीति बना रहे हैं. गांव में आज पंचायत हुई जिसमें किसान आंदोलन को मजबूत करने के लिए कई अहम फैसले भी लिए गए हैं. 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *