कृषि कानून वापस लेने की मांग पर अड़े किसान नेताओं ने नई दिल्ली में गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड हिंसा से जुड़ी घटनाओं की उच्च स्तरीय न्यायिक जांच कराने की बात कही है।

संयुक्त किसान मोर्चा ने शनिवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान यह मांग उठाई। साथ ही कहा कि 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड में शामिल हुए 16 किसान अभी भी लापता हैं। मोर्चा ने इसके अलावा आरोप लगाया है कि किसानों को फर्जी मामलों में फंसाया जा रहा है और उनका उत्पीड़न किया जा रहा है।

किसान नेताओं के मुताबिक, “14 प्राथमिकियों के सिलसिले में दिल्ली पुलिस ने 122 किसानों को गिरफ्तार किया है।” संवाददाता सम्मेलन में किसान नेताओं ने कहा : संयुक्त किसान मोर्चा गिरफ्तार किसानों को कानूनी और वित्तीय मदद प्रदान करेगा।

26 जनवरी पर बुराड़ी हिंसा केस में 3 और अरेस्टः उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र में गणतंत्र दिवस पर किसानों की ‘ट्रैक्टर परेड’ के दौरान हुई हिंसा के सिलसिले में तीन और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि फुटेज और तकनीकी जांच की मदद से आरोपियों सुखमीत सिंह (35), गनदीप सिंह (33) और हरविंदर सिंह (32) की पहचान की गई और इसके बाद उन्हें गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी की गई। पुलिस ने बताया कि सुखमीत और गनदीप दोनों पश्चिमी दिल्ली के हरि नगर के निवासी हैं, जबकि हरविंदर लिबासपुर इलाके का निवासी है।

हिंसा में 500 से अधिक पुलिसवाले हुए थे घायलः एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि उत्तरी जिले के विशेष जांच दल (एसआईटी) ने गणतंत्र दिवस पर बुराड़ी क्षेत्र में हुई हिंसा में उनकी कथित संलिप्तता के लिए तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इन लोगों की गिरफ्तारी के साथ ही पुलिस गणतंत्र दिवस पर बुराड़ी में हुई हिंसा के सिलसिले में अब तक 14 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। बता दें कि केन्द्र के नये कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों की 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड के दौरान पुलिस के साथ झड़प हो गई थी। गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा के दौरान 500 से अधिक पुलिस सुरक्षाकर्मी घायल हो गये थे जबकि एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी।

सिंघू पर किसान की हर्ट अटैक से मौतः दिल्ली के सिंघू बार्डर पर किसानों के आंदोलन में भाग ले रहे पंजाब के 72 साल के एक किसान की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी। हरियाणा के सोनीपत के कुंडली थाने के एक अधिकारी ने बताया कि किसान हंसा सिंह (72) मोगा जिले के निवासी थे। पुलिस के मुताबिक सिंह की बृहस्पतिवार रात को दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गयी। शुक्रवार को उनका पोस्टमार्टम किया गया। हजारों किसान तीन नये कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर दिल्ली के हरियाणा एवं उत्तर प्रदेश सीमा पर नवंबर से डेरा डाले हुए हैं। 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *