नई दिल्ली। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद से ही सोशल मीडिया पर कई प्रकार की फेक खबरें, वीडियो और तस्वीरें वायरल होने लगी हैं। अब पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की अपने दोस्तों के साथ की एक पुरानी तस्वीर वायरल हो रही है। तस्वीर में युवावस्था के भगवंत मान तीन अन्य व्यक्तियों के साथ बैठे हुए है। इस तस्वीर को शेयर करते हुए दावा किया जा रहा है कि यह तस्वीर उस समय का है, जब इन्हें बाइक चोरी के अपराध में पंजाब पुलिस ने पकड़ था। विश्वास न्यूज के पड़ताल में यह दावा गलत साबित हुआ है। वायरल फोटो होली के जश्न का है।

क्या है वायरल ?

फेसबुक यूजर Gaurav Upadhyay ने 30 मार्च को वायरल तस्वीर को शेयर किया है, जिस पर लिखा हुआ है, “यह उस समय का चित्र है जब इन चारों को बाइक चोरी के अपराध में पंजाब पुलिस ने पकड़ लिया था।“

एक अन्य फेसबुक यूजर Anshu Lalit ने भी कुछ ऐसा ही दावा किया है। फैक्ट चेक के उद्देश्य से फेसबुक पोस्ट में लिखी गई बातों को हूबहू लिखा गया है। इसके आर्काइव्ड वर्जन को यहां देखा जा सकता हैं।

पड़ताल – 

वायरल तस्वीर की सच्चाई जानने के लिए जब वायरल फोटो को गूगल रिवर्स इमेज की सहायता से सर्च किया। इस दौरान वायरल फोटो 18 मार्च 2022 को पंजाबी गायक और अभिनेता करमजीत अनमोल के वेरिफाइड फेसबुक पेज पर अपलोड मिला। कैप्शन के मुताबिक, करमजीत ने होली की यादों को ताजा करते हुए इस तस्वीर को शेयर किया था। तस्वीर में करमजीत के साथ-साथ भगवंत मान और मंजीत सिद्धू बैठे हुए हैं। मंजीत सिंह काली टी- शर्ट पहने बैठे हुए हैं।

ABP न्यूज में 16 मार्च को प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, भगवंत मान और करमजीत अनमोल बचपन से ही दोस्त है। भगवंत मान और करमजीत अनमोल 90 के दशक से दोस्त हैं। करमजीत ने चुनाव के दौरान भगवंत मान के लिए प्रचार भी किया था। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक, भगवंत मान के शपथ समरोह के दौरान करमजीत ने कहा था कि भगवंत ने भी स्‍टैंडअप कॉमेडियन के तौर पर अपना करियर शुरू किया था। हालांकि, मैंने भगवंत से कहा था कि आपका असली फील्‍ड पॉलिटिक्‍स है, क्‍योंकि उनमें लोगों की पीड़ाओं-समस्‍याओं को लेकर दिल में दर्द रहता था।

अधिक जानकारी के लिए फैक्ट चैकिंग वेबसाइट ने फोटो में मौजूद मंजीत सिद्धू से संपर्क किया, ” उन्होंने विश्वास न्यूज को बताया कि वायरल दावा गलत है। यह तस्वीर तकरीबन 1994 या 1995 के समय की है। उस दौरान कैनेडियन सिंगर हरभजन मान भारत आए हुए थे। हम सभी दोस्त उनसे मिलने के लिए पहुंचे थे। इस तस्वीर को उन्हीं के घर खींचा गया था।

पड़ताल के अंत में पोस्ट को वायरल करने वाले यूजर की जांच की गई। फेसबुक यूजर Gaurav Upadhyay के सोशल स्कैनिंग में पता चला की यूजर के 1580 फॉलोअर्स हैं। यूजर उत्तर प्रदेश के लखनऊ का रहने वाला है।

निष्कर्ष: फैक्ट चेक की पड़ताल में बाइक चोरी के आरोप में पंजाब पुलिस द्वारा भगवंत मान के गिरफ्तार होने का दावा गलत साबित हुआ है। वायरल तस्वीर में भगवंत मान अपने दोस्तों के साथ होली मना रहे हैं।

  • Claim Review : यह उस समय का चित्र है भगवंत मान को और उनके दोस्तों को बाइक चोरी के अपराध में पंजाब पुलिस ने पकड़ लिया था।
  • Claimed By : Gaurav Upadhyay
  • Fact Check : भ्रामक
Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment