9.8 C
London
Thursday, June 13, 2024

फेसबुक ने बदला कंपनी नाम, भारतीय ने दिया मेटा नाम

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक की होल्डिंग कंपनी का नाम अब बदल गया है। फेसबुक की तरफ से गुरुवार को जानकारी दी गई कि वह मेटा के रूप में कंपनी को रीब्रांड करेगा। दरअसल पिछले कुछ समय से लगातार खबरें आ रही थीं कि फेसबुक री-ब्रांडिंग करने वाला है। ऐसे में अब कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क जकरबर्ग ने गुरुवार इसकी घोषणा कर दी है।

टेक दिग्गज ने कहा कि इस परिवर्तन के साथ एक नए ब्रांड के जरिए उसके विभिन्न ऐप और तकनीकों को एक साथ लाया जाएगा। हालांकि फेसबुक की तरफ से साफ किया गया है कि इस बदलाव में वह अपने कॉर्पोरेट ढांचे को नहीं बदलेगा। सीईओ मार्क जकरबर्ग ने कंपनी के एक लाइव-स्ट्रीम वर्चुअल कार्यक्रम में कहा कि नया नाम मेटावर्स के निर्माण पर अपना ध्यान केंद्रित करेगा।

जकरबर्ग ने कंपनी के सालाना कार्यक्रम में कहा, “हमारे ऊपर एक डिजिटल दुनिया बनी है, जिसमें वर्चुअल रिएलिटी हेडसेट और एआई शामिल है। हमारा मानना है कि मेटावर्स मोबाइल इंटरनेट की जगह ले लेगा।” बता दें कि इस साल, फेसबुक ने मेटावर्स पर केंद्रित एक उत्पाद टीम बनाई और हाल ही में इस प्रयास पर काम करने के लिए अगले पांच वर्षों में यूरोप में 10,000 कर्मचारियों को नियुक्त करने की घोषणा की।

बता दें कि फेसबुक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से कई ट्वीट में जानकारी दी कि इंस्टाग्राम, मैसेंजर और वाट्सएप के नाम बने रहेंगे।

गौरतलब है कि फेसबुक ने मेटावर्स प्रोजेक्ट में 2021 में 10 बिलियन डॉलर का निवेश किया है। इसको लेकर हाल ही में जारी की गई अर्निंग रिपोर्ट में, कंपनी ने ऐलान किया था कि उसका वर्चुअल रियलिटी सेगमेंट इतनी वृद्धि कर गया है कि अब वह अपने प्रोडक्ट्स को दो श्रेणियों में अलग कर सकता है। बता दें कि नाम बदलने के बाद मेटावर्स के लिए कंपनी 10 हजार लोगों को रोजगार देने की तैयारी में है।

बता दें कि आज के दौर में सोशल मीडिया के जितने भी प्लेटफॉर्म्स हैं, उनमें फेसबुक का रूप व्यापक हो चुका है। एक आंकड़े के मुताबिक फेसबुक ने 9.1 अरब डॉलर की शुद्ध आय दर्ज की है। यह उसकी पिछले साल की इसी तिमाही के मुकाबले 17 प्रतिशत ज्यादा है।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here