क्रिकेट के मैदाम में कई बार कुछ ऐसा देखने को मिल जाता है जिसकी लोगों की उम्मीद नहीं होती। कभी बल्लेबाज अपने बल्ले के दम पर इतिहास लिख देता है। तो कभी गेंदबाज अपनी गेंद का जलाव दिखाते हैं।

इन सब के बीच कई खिलाड़ी कई रिकॉर्ड भी तोड़ते हैं। लेकिन, इस बार आईपीएल में ये सब तो देखने को मिला ही लेकिन, यह भी देखने को मिला की तीन गेंदों में तीन बार आउट होने के बाद अजिंक्य रहाणे पवेलियन नहीं लौटे।

दरअसल, डेविड वॉर्नर और पृथ्वी शॉ से मिली आक्रामक शुरुआत की बदौलत दिल्ली कैपिटल्स ने कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ रविवार को पांच विकेट पर 215 रन का विशाल स्कोर बनाया। ये आईपीएल 2022 का पहली पारी का हाईएस्ट स्कोर भी है। शार्दुल ठाकुर (11 गेंदों पर नाबाद 29, एक चौका, तीन छक्के) और अक्षर पटेल (14 गेंदों पर नाबाद 22, दो चौके, छक्का) ने अंतिम ओवरों में 20 गेंदों पर 49 रन की अटूट साझेदारी करके स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया। केकेआर की तरफ से सुनील नारायण (21 रन देकर दो) सबसे सफल गेंदबाज रहे।

216 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता नाइट राइडर्स की शुरुआत खराब रही। पहले ही ओवर में मुस्तफिजुर रहमान के खिलाफ सलामी बल्लेबाज रहाणे काफी दबाव में दिखे। आईपीएल 2022 में पहली बार ऐसा कुछ दर्शकों ने देखा होगा। पहले ओवर की पहली ही गेंद पर रहाणे के खिलाफ विकेट के पीछे कैच आउट की अपील हुई और फील्ड अंपायर ने आउट भी दे दिया, लेकिन थर्ड अंपायर ने नॉट ऑउट करार दिया। इसके बाद फिर दूसरी गेंद पर अपील हुई और फील्ड अंपायर ने इर बार एलबीडब्ल्यू आउट करार दिया। लेकिन, फिर थर्ड अंपायर ने रहाणे को जिवनदान दे दिया।

अब इसके बाद जो हुआ उसकी किसी को उम्मीद नहीं थी। क्योंकि, तीसरी गेंद पर भी रहाणे आउट हुए। उनके बल्ले से किनारा लगा और पंत ने गेंद को लपक लिया। लेकिन, इस न तो फील्डर ने कोई आवाज सुनी और न ही अंपायर ने, जिसके चलते रहाणे तीसरी गेंद पर भी आउट होने के बाद पवेलियन नहीं लौटे।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment