8.8 C
London
Wednesday, June 12, 2024

सलमान खुर्शीद की बढ़ी मुसीबत, कोर्ट ने FIR दर्ज करने का दिया आदेश

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नई दिल्ली: कांग्रेसी नेता सलमान खुर्शीद की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं।

एक स्थानीय कोर्ट ने कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है। सलमान खुर्शीद ने अपनी किताब ‘Sunrize Over Ayodhya: Nationhood in Our Times’ में हिंदु धर्म और हिंदुत्व की तुलना उन्होंने आतंकी संगठन बोको हरम और आईएसआईएस से की है जिसके चलते उन पर एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया गया है। एसीजेएम कोर्ट ने उन पर एफआईआर के आदेश दिए हैं। एसएचओ बख्शी ने तीन दिन में एफआईआर दर्ज करके रिपोर्ट की कॉपी कोर्ट में भेजने का आदेश दिया है।

कोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि आवेदन पत्र में बताये गए फैक्सट्स और आवेदकों की दलीले सुनने के बाद कोर्ट का फैसला है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद के खिलाफ संज्ञेय अपराध का मामला बनता है। अदालत के समक्ष रिपोर्ट दर्ज कराए जाने की मांग वाली यह अर्जी शिकायतकर्ता शुभांशी तिवारी ने दायर की है। 

शुभांशी तिवारी ने कोर्ट में दाखिल अपनी अर्जी में कहा था कि सलमान खुर्शीद वरिष्ठ वकील हैं। वे कई मंत्री पदों पर भी रह चुके हैं। उनकी लिखी किताब सनराइज ओवर अयोध्या में कुछ अंश हिंदू धर्म को ठेस पहुंचाने वाले हैं। किताब के पेज संख्या 113 के अध्याय 6 द) में लिखा है कि भारत के जिस सनातन धर्म और मूल हिन्दूत्व की हम बात करते आए हैं, वह भारत के साधु संतो के नाम से पहचाना जाता है। आज उस पहचान को हम कट्टर हिन्दूत्व के बल पर दरकिनार कर रहे हैं वर्तमान समय में हिन्दुत्व का एक ऐसा राजनीतिक संस्करण ला दिया गया है, जो इस्लामी जेहादी संगठनों आइएसआइएस और बोको हरम जैसा है। 

अर्जी में कहा गया है कि सलमान खुर्शीद एक वरिष्ठ नेता होने के साथ कई मंत्री पद पर रह चुके हैं। ऐसे में उनकी किताब का कुछ पार्ट विवादास्पद और हिंदू धर्म की छवी को खराब करने वाला है। उनपर आरोप है कि उनकी लिखी किताब को पढ़ने के बाद आवेदक की धार्मिक भावनाओं का आघात हुआ है। आवेदक का मानना है कि बिना किसी सबूत के किसी भी धर्म के बारे में लिखना या उसकी छवी खराब करना नैतिक रूप से गलत है

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here