16.8 C
London
Saturday, May 25, 2024

शिवसेना से बगावत के लिए एकनाथ शिंदे पर दबाव बनाया गया : संजय रावत

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

मुंबई. भाजपा पर निशाना साधते हुए शिवसेना सांसद संजय राउत ने मंगलवार को दावा किया कि एकनाथ शिंदे पर उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना के खिलाफ बगावत करने का दबाव था. राउत ने आरोप लगाया कि मंत्री शिंदे के साथ सूरत गये विधायकों में से कम से कम दो की ‘ऑपरेशन कमल’ के तहत गुंडों और पुलिस ने पिटाई की है. शिंदे के गुजरात में डेरा डालने और सबसे संपर्क तोड़ने के मद्देनजर मचे राजनीतिक उथलपथल के सवाल पर राउत ने केंद्रीय एजेंसियों के दबाव की ओर संकेत किया.

राउत ने कहा कि वह शिंदे की मजबूरी से अवगत थे जिसने उन्हें पार्टी के खिलाफ बगावत करने के लिए प्रेरित किया. राउत ने यह भी दावा किया कि कुछ विधायकों को भ्रमित करके उनका ‘अपहरण’ करके गुजरात ले जाया गया. राउत ने दावा किया कि, “देशमुख के साथ गये नितिन देशमुख समेत दो विधायकों को बीती रात पीटा गया. देशमुख ने भागने की कोशिश की, लेकिन ‘ऑपरेशनल कमल’ के तहत पुलिस और गुंडों ने उनकी पिटाई कर दी और उन्हें दिल का दौरा पड़ा. कुछ विधायकों ने हमसे कहा है कि उन्हें गुमराह किया गया और गुजरात ले जाया गया.

‘गुमराह करके विधायकों का अपहरण किया गया’

राउत ने आरोप लगाया कि शिवसेना के विधायकों के पास उनके सहयोगियों के कम से कम चार से पांच फोन कॉल आए, जिन्होंने फोन पर बचाने का अनुरोध करते हुए कहा कि उन्हें गुमराह किया गया. राउत के मुताबिक गुजरात से फोन करने वाले विधायकों ने कहा कि उन्हें गुमराह करने समेत उनका अपहरण किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि उन्हें ठाणे में (सोमवार को) रात के खाने के लिए बुलाया गया और फिर ले जाया गया. उन्होंने कहा कि उनके परिवार के सदस्यों ने अपने पति और पिता के लापता होने की पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है.

संजय राउत बोले, मैं शिंदे की मजबूरियों से वाकिफ हूं

शिवसेना सांसद ने कहा कि उन्हें भी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) से नोटिस मिले थे, लेकिन वे कभी दबाव में नहीं आए. उन्होंने कहा, “मैं शिवसेना को कभी नहीं छोड़ूंगा जो मेरी मां की तरह है. मैं शिंदे की मजबूरियों से वाकिफ हूं.” उन्होंने दावा किया कि शिंदे के साथ शिवसेना के 14 से 15 विधायक हैं, जबकि मंगलवार को मुंबई में मुख्यमंत्री ठाकरे के साथ बैठक में कम से कम 30 विधायक शामिल हुए.

विधानसभा में शिवसेना के 55 विधायक

शिवसेना के पास सदन में 55 विधायक हैं. राउत ने शिंदे को विधानसभा में शिवसेना विधायक दल के नेता पद से हटाने को भी उचित ठहराया और कहा कि अनुशासनात्मक कार्रवाई की आवश्यकता है. इससे पहले दिन में राउत ने कहा था कि शिंदे के साथ संपर्क स्थापित किया गया है, जो मुंबई में नहीं हैं.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here