ऑस्ट्रेलियाई कैनोइस्ट जेसिका फॉक्स ने इस सप्ताह के शुरू में टोक्यो 2020 ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीतने से पहले अपनी कश्ती को ठीक करने का एक अनूठा तरीका खोजा. फॉक्स K-1 इवेंट में तीसरे स्थान पर रहीं. हालांकि, उन्होंने एक दूसरे इवेंट में गोल्ड मेडल भी अपने नाम कर लिया है. फ्रांस में जन्मी केनो स्लेलम महिला एथलीट जेसिका फॉक्स ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलती हैं. 

हाल ही में अपनी एक इंस्टाग्राम पोस्ट में जेसिका फॉक्स ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपनी टूटी हुई कश्ती को ठीक करने के लिए ओलंपिक गांव से मिले एक कंडोम का इस्तेमाल किया. उनकी इस ट्रिक ने काम भी किया. इस ट्रिक के दम पर वह टोक्यो ओलंपिक में मेडल जीत पाई हैं.

ब्रॉन्ज मेडल मिलने के बाद 27 वर्षीय इस खिलाड़ी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट में लिखा, ”शर्त है कि आप कभी नहीं जानते थे कि कश्ती की मरम्मत के लिए कंडोम का इस्तेमाल किया जा सकता है.” शेयर किए गए वीडियो में फॉक्स के क्रू का एक सदस्य उनकी कश्ती को ठीक करने के प्रयासों में जुटा है. इसी बीच वह इसे ठीक करने के लिए कंडोम का भी इस्तेमाल करते हुए नजर आता है.

Jesscia fox cloe

जेसिका फॉक्स ने बताया की उसके बाद वापस आना भावनात्मक रूप से बेहद कठिन था. मुझे लगता है कि मैंने अपनी इस रेस को अपने दिमाग में लाखों बार देखा होगा. शायद आज की तरह कभी नर्वस नहीं हुई थी. मेरी नजर थोड़ी धुंधली थी और मैं बस यह देखने की कोशिश कर रही थी कि मैं कहां हूंऔर क्या यह काफी है

उन्होंने आगे कहा, आप कभी नहीं जानते कि ओलंपिक में क्या होने वाला है. आपको बस खुद पर काबू रखना होता है. जेसिका फॉक्स तीन बार की कैनोन स्लेलम K1 वर्ल्ड चैंपियन रह चुकी हैं. जेसिका फॉक्स को 2016 में रियो डी जनेरियो में ब्रॉन्ज मेडल और चार साल पहले लंदन में सिल्वर मेडल मिला था

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Join the Conversation

1 Comment

Leave a comment