मुंबई : किसान आंदोलन की लड़ाई कई मोर्चे पर लड़े जा रहे हैं। एक तरफ किसान बार्डर पर डटे हैं, तो सोशल मीडिया पर ट्वीट की जंग छिड़ी है और पुलिस इसमें आतंकी कनेक्शन खंगाल रही है। हाल के दिनों में देश की जाने-माने हस्तियों ने भी ट्वीट कर विचार जताए हैं। सबसे अहम पड़ाव आया तब, जब रिहाना के ट्वीट आए। इसके बाद प्रत्युतर में सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली सहित कई बड़े सितारों ने ट्वीट किए। महाराष्ट्र पुलिस को इस पर शक हो रहा है। कारण यह है कि उनमें कई शब्द कॉमन हैं।

अब महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने सचिन तेंदुलकर लता मंगेशकर विराट कोहली सहित अन्य सितारों द्वारा किए गए ट्वीट की जांच के आदेश दिए  हैं। महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी सरकार यह जांच करना चाहती है कि कहीं मोदी सरकार के दबाव में तो इन सितारों ने यह ट्वीट नहीं किए हैं?  महाराष्ट्र सरकार ने यह कार्रवाई कांग्रेस की शिकायत के बाद शुरू की है।

कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने गृहमंत्री अनिल देशमुख से ऑनलाइन मुलाकात की थी।  कांग्रेस ने अपनी शिकायत में कहा है कि रिहाना के ट्वीट के बाद सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली समेत बड़े सितारों ने जो ट्वीट किए हैं। उनमें कई शब्द कॉमन है जैसे अमिकेबल ( amicable) सुनील शेट्टी ने तो अपने ट्वीट में मुंबई बीजेपी नेता हितेश जैन को टैग किया था। वहीं सायना नेहवाल और अक्षय कुमार का ट्वीट एकदम सेम है। इन सभी ट्वीट की टाइमिंग और पैटर्न को देख कर लग रहा है कि बीजेपी सरकार के दबाव में इन सितारों ने ट्वीट किए होंगे।

कांग्रेस की मानें तो इन सभी सितारों ने किसानों की मौत पर कुछ भी नहीं कहा।  सभी खामोश रहे लेकिन अचानक सब ट्वीट करने लगे हैं। इसलिए शक गहरा रहा है। बता दें अमेरिकी पॉप सिंगर रिहाना और पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग सहित कुछ विदेशी शख्सियतों के किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किया था जिसके बाद सचिन तेंदुलकर और अक्षय कुमार सहित विभिन्न हस्तियों ने सोशल मीडिया पर ‘इंडिया टुगैदर’ और ‘इंडिया अगेन्स्ड प्रोपेगैंडा’ हैशटैग के साथ सरकार के रुख के समर्थन में ट्वीट किए थे।

दूसरी तरफ, महाराष्ट्र सरकार के गृहमंत्री अनिल देशमुख के आदेश पर बीजेपी नेता और प्रवक्ता राम कदम ने निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि महान हस्तियों ने भारत अखंड है और हम सब साथ हैं, जैसे एकजुटता वाले ट्वीट किया है, जिसे महाराष्ट्र सरकार कैसे देश विरोधी बता रही है। यह सोचकर ही शर्म आ रही है कि जिन्होंने देश के लिए जीना सीखा उन्हें देशभक्ति की पाठ आज की सरकार सिखाने चली है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *