क्या आप चाहते हैं कि मुजफ्फरनगर दंगों की वापसी हो?’ सपा उम्मीदवारों की लिस्ट पर केशव प्रसाद मौर्य का बयान

राज्यउत्तरप्रदेशक्या आप चाहते हैं कि मुजफ्फरनगर दंगों की वापसी हो?’ सपा उम्मीदवारों की लिस्ट पर केशव प्रसाद मौर्य का बयान

यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) के लिए सपा उम्मीदवारों की लिस्ट को लेकर राज्य के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने हमला बोला है. सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर करारा हमला करते हुए केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि सपा उम्मीदवारों की सूची (SP Candidate List)  पश्चिमी यूपी के 2017 से पहले का ट्रेलर है. उन्होंने कहा कि इसमें अखिलेश ने सुझाव दिया है कि वे दंगाइयों को नहीं छोड़ सकते और यूपी में एकबार फिर गुंडाराज होगा. यूपी के डिप्टी सीएम (Keshav Prasad Maurya) ने अखिलेश यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि सपा ने विधानसभा चुनाव के लिए कई अपराधियों को टिकट दिया है.

इसके साथ ही डिप्टी सीएम (UP Deputy CM) केशव प्रसाद मौर्य ने जनता से सवाल किया कि क्या आप चाहते हैं कि मुजफ्फरनगर दंगों की वापसी हो. उन्होंने सपा पर गुंडाराज वापस लाने का आरोप लगाया. बता दें सपा ने चुनावी रण के लिए अपने सिपाहियों के नामों का ऐलान कर दिया है. बीजेपी का आरोप है कि अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से दंगाइयों का मोह नहीं छूट रहा है. विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के लिए राष्ट्रीय लोक दल ने उन शिक्षित प्रत्याशियों को चुना है, जिनकी कोई आपराधिक पृष्ठभूमि नहीं है. वहीं सहयोगी दल सपा ने उम्मीदवारों की पहली सूची की घोषणा करते हुए ‘जीतने की क्षमता’ के आधार पर उम्मीदवारों को चुना है.

पश्चिमी यूपी की 29 सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान

बता दें कि सपा और आरएलडी ने 2021 में विधानसभा चुनाव के लिए साथ आने का ऐलान किया था. गठबंधन ने गुरुवार को पश्चिमी यूपी की 29 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा की. बता दें कि यूपी में 10 फरवरी को विधानसभा चुनाव की शुरुआत होनी है. सपा ने 10 सीटों पर और RLD ने 19 सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं. बता दें कि मुजफ्फरनगर, शामली, अलीगढ़, आगरा, गाजियाबाद, मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद जैसे जिलों की सीटों में से ज्यादातर पर 2017 के चुनावों में बीजेपी प्रत्याशियों ने जीत हासिल की थी, लेकिन इन सीटों पर किसान आंदोलन और बदलते जाति समीकरणों का काफी असर पड़ा है.

यूपी के डिप्टी सीएम का अखिलेश पर हमला

RLD के प्रवक्ता संदीप चौधरी ने भाषा को बताया कि टिकट वितरण में उम्मीदवार की पृष्ठभूमि पर ध्यान दिया गया है. किसी भी उम्मीदवार की आपराधिक छवि नहीं है. सभी उम्मीदवार शिक्षित और योग्य हैं, जिनकी अपने क्षेत्र में अच्छी पैठ है. वहीं सपा ने ‘जीतने के योग्य’ उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारने का फैसला लिया है. इसी बात को लेकर बीजेपी सपा पर हमलावर है. यूपी के डिप्टी सीएम ने अखिलेश यादव पर हमला बोला है.

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles