Hate Speech in Haridwar Dharm Sansad:हरिद्वार में धर्म संसद के दौरान हेट स्पीच का मामला अब सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. सर्वोच्च अदालत ने कहा कि मामले की सुनवाई की जाएगी. दरअसल आज सुप्रीम कोर्ट में वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने हरिद्वार धर्म संसद में दिए गए भड़कऊ भाषणों का मामला रखा. इस दौरान सीजेआई एनवी रमना की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष इस मामले का उल्लेख करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि लगता है कि देश का नारा ‘सत्यमेव जयते’ से ‘शस्त्रमेव जयते’ में बदल गया लगता है.

सुप्रीम कोर्ट मामले की सुनवाई पर तैयार

इस दौरान कपिल सिब्बल ने कहा कि एफआईआर दर्ज हुई लेकिन गिरफ्तारी नहीं हुई. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ कथित हिंसा को उकसाने वाले हरिद्वार के धर्म संसद के भाषणों की स्वतंत्र जांच की मांग वाली याचिका पर सुनावई के लिए तैयार हो गया.

हरिद्वार धर्म संसद में क्यों हुआ विवाद

बता दें कि पिछले दिनों उत्तराखंड के हरिद्वार मे हुई धर्म संसद में भड़काऊ भाषण का एक वीडियो सामने आया था जिसके बाद काफी विवाद बढ़ गया था. इस धर्म संसद में एक वक्ता ने विवादित भाषण दिया था और कहा था कि धर्म की रक्षा हेतु हिंदुओं को शस्त्र उठाने की आवश्यकता है. वक्ता ने इस दौरान ये भी कहा था कि किसी भी स्थिति में देश में मुस्लिम प्रधानमंत्री नहीं बनना चाहिए. इतना ही नहीं वक्ता ने ये भी कहा था कि मुस्लिम आबादी बढ़ने पर रोक लगानी होगी.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment