16.1 C
Delhi
Monday, December 5, 2022
No menu items!

दिल्ली: जहांगीर पूरी में खुले आम ‘बंदूके-तलवारे’ लहरा रहे थे ‘भगवा आतंकी’ : अकबरुद्दीन ओवैसी

- Advertisement -
- Advertisement -

दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके (Jahangirpuri Violence) में हनुमान जयंती के मौके पर शोभायात्रा के दौरान हुई हिंसा के मामले में राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है. ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के नेता अकबरुद्दीन ओवैसी ( Akbaruddin Owaisi ) ने घटना को लेकर दिल्ली पुलिस पर सवाल खडे़ किए हैं.

उन्होंने आरोप लगाया है कि मस्जिद के ऊपर कुछ लोगों ने भगवा झंडा लगाने की कोशिश की गई है. साथ ही दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की कार्रवाई पर सवाल खड़े करते हुए पूछा है कि आपने अभी तक कितने लोगों को गिरफ्तार किया है. ओवैसी ने शोभायात्रा में हथियार लहराने वालों को ‘भगवा आतंकी’ भी कहा है.

- Advertisement -

अकबरुद्दीन ओवैसी ने रविवार को एक वीडियो को शेयर करते हुए अपने ट्वीट में लिखा, ‘भगवा आतंकवादी शोभायात्रा में खुलेआम बंदूकें और तलवारें लेकर दिल्ली की सड़कों पर आतंक मचा रहे हैं. मस्जिद के सामने हथियारों के साथ नाचा गया, JSR (जय श्री राम) के नारे के साथ मस्जिद के ऊपर भगवा झंडा लगाने की कोशिश की गई. दिल्ली पुलिस, आपने अबतक कितने दंगाइयों को गिरफ्तार किया?’ उन्होंने ट्वीट करते हुए यह भी साफ कर दिया है कि वह किन लोगों की गिरफ्तारी की तरफ इशारा कर रहे हैं.

समुदायों के बीच कोई असहिष्णुता नहीं- नकवी

अकबरुद्दीन ओवैसी द्वारा शेयर वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट

जहांगीरपुरी हिंसा मामले में राजनीतिक दलों की तरफ से खूब बयानबाजी की जा रही है. केंद्रीय अल्पसंख्यक मंत्रालय में मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा है कि भारत के लोगों को अपने धर्म के मुताबिक उसका अभ्यास करने की आजादी है और धार्मिक समुदायों के बीच कोई असहिष्णुता नहीं है. उन्होंने इकोनॉमिक टाइम्स अखबार से कहा कि असामाजिक तत्व शांति और समृद्धि को पचा नहीं पा रहे हैं. वह भारत की समावेशी संस्कृति और प्रतिबद्धता को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं.

देश के दूसरे इलाकों में भी हुई ऐसी ही हिंसा

हाल के हफ्तों में ना केवल दिल्ली बल्कि देश के दूसरे कई हिस्सों में भी धार्मिक जुलूसों के दौरान हिंसा देखने को मिली है. रामनवमी की पूजा के अवसर पर मांसाहारी खाना परोसे जाने को लेकर दिल्ली की एक यूनिवर्सिटी में छात्रों के दो गुट आपस में भिड़ गए. नकवी ने आगे कहा, ‘यह सरकार का काम नहीं है कि वह लोगों को बताए कि क्या खाना है और क्या नहीं. देश के हर नागरिक को अपनी पसंद का खाना खाने का अधिकार है.’ वहीं जहांगीरपुरी हिंसा मामले की बात करें, तो पुलिस ने अब तक 14 संदिग्धों कों गिरफ्तार किया है. इनमें से एक अंसार को दंगों का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है. पुलिस से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी है.

- Advertisement -
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here