नई दिल्ली। CAA और NRC के विरोध में देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा को एक साल हो गया है। पिछले साल 23 फरवरी के दिन ही उत्तर-पूर्वी दिल्ली के इलाकों में हिंसा भड़क उठी थी, जिसमें 50 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी और 500 से अधिक लोग घायल हुए थे। इनमें बड़ी संख्या में सुरक्षाबल भी शामिल थे।

आपको बता दें कि दंगा पीड़ितों की मदद के लिए दिल्ली सरकार ने जो काम पिछले एक साल के अंदर किया है वो कोई नहीं कर पाया। जानकारी के मुताबिक, दिल्ली सरकार ने पिछले एक साल के अंदर दंगा पीड़ितों को अब तक 26 करोड़ रुपए से अधिक का मुआवजा दे दिया है।

आधिकारिक सूत्रों की तरफ से ये जानकारी दी गई है। आपको बता दें कि दिल्ली हिंसा में सार्वजनिक संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचा था, जिसका खर्चा भी दिल्ली सरकार ने उठाया है।

टाइम्स नाउ की खबर के मुताबिक, दिल्ली दंगों के पीड़ितों को दिल्ली सरकार अब तक कुल 26.09 करोड़ रुपये का मुआवजा दे चुकी है। इसमें 44 मृतकों के परिजनों को 4.25 करोड़ रुपये और 233 घायलों को 1.75 करोड़ रुपये दिए गए।

इसके अलावा आवासीय संपत्ति को नुकसान के 1,176 मामलों में 11.28 करोड़ रुपये की सबसे अधिक राशि दी गई, इसके बाद 731 व्यक्तियों को 8.51 करोड़ रुपये दिए गए, जिनके व्यावसायिक प्रतिष्ठान हिंसा और आगजनी के दौरान नष्ट हो गए थे।

इसके अलावा ई-रिक्शा और दोपहिया वाहनों के नुकसान के लिए 4.42 लाख रुपये के मामलों में 5.50 लाख रुपये का भुगतान किया गया था।

आपको बता दें कि दिल्ली सरकार ने दंगों में मारे गए लोगों के परिजनों को 10 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की थी। इसके अलावा जो दंगों के दौरान विकलांग हो गए, उन्हें 5 लाख रुपए दिए गए थे।

गंभीर रूप से घायल होने वालों को दिल्ली सरकार ने 2 लाख रुपये और मामूली चोट वाले लोगों को 20,000 रुपये दिए थे। संपत्ति के नुकसान की भरपाई में पूरी तरह से क्षतिग्रस्त घरों के लिए 5 लाख रुपये दिए थे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *