नई ​दिल्ली. दिल्ली के मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास लगी भीषण आग के बाद एनडीआरएफ और फायर की टीम मौके पर मौजूद है. हादसे में 27 लोगों की मौत हो गई थी. सभी शव बरामद कर लिए गए हैं. अब तक 100 से ज्यादा लोगों को रेस्क्यू कर लिया गया है. एनडीआरएफ के असिस्टेंट कमांडेंट विकास सैनी ने मीडिया को बताया कि अभी भी अंदर रेस्क्यू ऑपरेशन चल रहा है. अंदर तमाम जले हुए सामान निकल रहे हैं. कुछ लोगों का रेस्क्यू किया गया है, लेकिन अभी रेस्क्यू ऑपरेशन लगातार चलेगा. एनडीआरएफ की 3 टीमें और लगाई गई हैं.

इधर लोग लगा रहे आरोप
दिल्ली के मुंडका इलाके में लगी आग में उन पीड़ितों लोगो से मीडिया ने बात की जो बिल्डिंग में काम कर रहे थे और आग लगने पर समय रहते अपनी जान बचाकर निकले. लेकिन उन तमाम लोगों का कहना है कि उनके जानकारों का कोई पता नहीं चल रहा है.

यह भी नहीं पता चल रहा है कि वह कौन से अस्पताल में हैं? तमाम पीड़ितों ने आरोप लगाया कि समय रहते न तो फायर की गाड़ियां मौके पर पहुंची और ना ही कोई अधिकारी. अगर, समय पर सभी सुविधा पहुंच जाती तो शायद कई लोगों की जान बचाई जा सकती थी.

लोगों ने पहले तल से लगाई थी छलांग
बता दें आग लगने के बाद एनडीआरएफ ने लोगों को निकालने के लिए सीढ़ियों का इस्तेमाल किया था. पुलिस कर्मियों ने इमारत की खिड़कियां तोड़कर फंसे लोगों को बाहर निकालने में मदद की थी. वहीं, कुछ परिजन अपनों की फोटो दिखाकर परिचितों के बारे में जानकारी लेने की कोशिश कर रहे थे.

आग से बचने के लिए इमारत के अंदर फंसे कई लोगों ने निचले फ्लोर की खिड़कियों से छलांग लगा दी थी. जिस चार मंजिला व्यावसायिक इमारत में आग लगी, उसमें ज्यादातर अलग अलग कम्पनीज के आॅफिस थे. पुलिस के अनुसार आग पहली मंजिल पर स्थित एक सीसीटीवी एंड राउटर मैन्युफैक्चरिंग कंपनी में लगी थी. अब तक कुल 27 लोगों की मौत हो चुकी है. 100 लोगों को रेस्क्यू किया गया है और 28 लोग अब भी लापता हैं.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment