[email protected]

क्राउन प्रिंस सलमान ने की थी किंग अब्दुल्ला को मारने की कोशिश? शाही परिवार के बागी के खुलासे से कोहराम

- Advertisement -
- Advertisement -

वॉशिंगटन, अक्टूबर 25: सऊदी अरब राजपरिवार के एक बागी के खुलासे ने सऊदी साम्राज्य में हड़कंप मचा दिया है। सऊदी अरब के एक बागी ने दावा किया है कि, क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने पूर्व सम्राट किंग अब्दुल्ला को मारने की कोशिश की थी। सऊदी अरब राजपरिवार के बागी के दावे के बाद पूरी दुनिया में सनसनी मच गई है। सऊदी अरब के राजपरिवार के बागी साद अल-जाबरी ने सीबीएस न्यूज के “60 मिनट्स” कार्यक्रम में सनसनीखेज दावे किए हैं।

साद अल जाबरी के सनसनीखेज दावे

सऊदी अरब राज परिवार के बागी अल जाबरी ने हालांकि अपने दावे को लेकर एक भी सबूत पेश नहीं किए, लेकिन उन्होंने जो आरोप लगाए हैं, उसके बाद सऊदी अरब में कोहराम मचना तय माना जा रहा है। वहीं, सीबीएस न्यूज से बात करते हुए सऊदी अधिकारियों ने अल जाबरी को’एक बदनाम पूर्व सरकारी अधिकारी’ के रूप में वर्णित किया है। आपको बता दें कि, अल-जाबरी अब कनाडा में रहते हैं और उन्होंने दावा किया है कि 2014 में उन्होंने प्रिंस मोहम्मद बिन नायेफ के साथ मुलाकात की थी, जो उस समय आंतरिक मंत्री के तौर पर खुफिया विभाग के प्रमुख थे। उन्होंने बताया था कि, सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान, जो एमबीएस के तौर पर प्रसिद्ध हैं, वो किंग अब्दुल्ला की हत्या कर सकते हैं।

मोहम्मद बिन सलमान पर आरोप

अल जाबरी ने कहा कि, उस वक्त प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान यानि एमबीएस की सऊदी अरब सरकार में कोई भूमिका नहीं थी, सिवाय इसके कि वो अपने पिता की विरासत और सिंहासन के उत्तराधिकारी थे और वो पिता के विरासत के लिए राज्यपाल की भूमिका में थे। अल जाबरी ने दावा करते हुए कहा कि, ”प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने कहा था कि वो अपने किंग अब्दुल्ला की हत्या करना चाहते हैं और इसके लिए वो एक रूसी अंगूठी का इस्तेमाल करेंगे, जो जहर बुझी अंगूठी होगी”। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि, ”प्रिंस सलमान ने कहा था कि, किंग अब्दुल्ला की हत्या के लिए उन्हें सिर्फ उनसे हाथ मिलाने की जरूरत होगी और वो मर जाएंगे”।

राज परिवार ने संभाली थी बात

अल जाबरी ने आरोप लगाते हुए कहा कि, सऊदी क्राउन प्रिंस के धमकी को राजपरिवार में काफी गंभीरता से लिया गया और खुफिया अधिकारियों ने इस बाबत जानकारी राजपरिवार को दी थी। लेकिन, शाही परिवार ने इस बात को घर के भीतर ही संभाल लिया। अल जाबरी ने दावा कि, उस बैठक का वीडियो रिकॉर्डिंग अभी भी मौजूद है। आपको बता दें कि, किंग सलमान जनवरी 2015 में अपने सौतेले भाई किंग अब्दुल्ला की एक अस्पताल में फेफड़ों के संक्रमण से मृत्यु के बाद सिंहासन पर विराजमान हुए थे और बाद में यह घोषित किया गया था उनकी मौत प्राकृतिक कारणों से हुई है।

जमाल खशोगी हत्याकांड पर खुलासा

इसके साथ ही अल-जाबरी ने अतीत में एमबीएस पर जमाल खशोगी की 2018 में हुई हत्याकांड में भी शामिल होने का आरोप लगाया है। जमाल खशोगी हत्याकांड को लेकर अमेरिकी अधिकारियों के एक आकलन में दावा किया गया था कि, सऊदी क्राउन प्रिंस के कहने पर ऑपरेशन में पत्रकार जमाल खशोगी को मार दिया गया था। न्यूज प्रोग्राम “60 मिनट” के संवाददाता स्कॉट पेले ने एक छोटा साइलेंड वीडियो भी कार्यक्रम के दौरान दिखाया है। वहीं, कार्यक्रम में एक वीडियो में अल जाबरी कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि, अगर उनकी हत्या कर दी जाती है, तो इस वीडियो को सार्वजनिक कर दिया जाएगा। इसके साथ ही बागी अल-जाबरी ने सऊदी अरब क्राउन प्रिंस को एक सनकी, पागल और हत्यारा बताया है। आपको बता दें कि, सऊदी अरब राज परिवार के आलोचक जमाल खशोगी की अक्टूबर 2018 में तुर्की में सऊदी वाणिज्य दूतावास के अंदर हत्या कर दी गई थी।

सऊदी राजपरिवार ने किया था इनकार

जमाल खशोगी हत्याकांड के बाद तुर्की के अधिकारियों ने सऊदी अरब वाणिज्य दूतावास के अंदर का एक वीडियो जारी किया था, जिसमें जमाल खशोगी को देखा गया था। वहीं, वीडियो जारी होने के बाद सऊदी अरब की तरफ से कहा गया था कि, जमाल खशोगी को सऊदी वापस लाने की तैयारी की जा रही थी, लेकिन यह गड़बड़ा गया। इसके विपरीत अमेरिकी खुफिया जांच में कहा गया कि सऊदी क्रॉउन प्रिंस ने जमाल खशोगी को मारने के आदेश दिए थे। जबकि, क्राउन प्रिंस ने ऑपरेशन में किसी भी तरह से शामिल होने की बात से इनकार कर दिया था।

हिरासत में अल जाबरी के बेटे

आपको बता दें कि, मार्च 2020 में सऊदी अरह के रियाद से अल जाबरी के बेटे उमर अल जाबरी और 21 साल की बेटी सारा अल जाबरी को हिरासत में ले लिया गया है। जिसके बाद अल जाबरी ने पहली बार कोई इंटरव्यू दिया है और राज परिवार पर सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। वहीं, ह्यूमन राइट्स वॉच का कहना है कि, परिवार के सदस्यों की गिरफ्तारी अल-जाबरी को सऊदी अरब लौटने के लिए मजबूर करने का एक स्पष्ट प्रयास है। सऊदी अरब की एक अदालत ने उनके बेटे और बेटी को मनी लॉन्ड्रिंग और सऊदी अरब से अवैध रूप से भागने के प्रयास के आरोप में साढ़े नौ साल की जेल की सजा सुनाई है।

फेसबुक पर ताजा ख़बरें पाने के लिए लाइक करे

Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -
×