केरल के कांग्रेस विधायक एल्धोसे कुन्नापिल्ली की राम मंदिर के लिए चंदा देते हुए तस्वीरें वायरल हो रही हैं। लेकिन अब कांग्रेस विधायक का कहना है कि उन्हें आरएसएस के लोगों ने मूर्ख बनाया है। अयोध्या के राम मंदिर निर्माण के लिए योगदान देने वाले विधायक ने कहा, ‘मुझे कुछ लोगों की ओर से मंदिर के डोनेशन के मकसद से संपर्क किया गया था।

लेकिन उन्होंने मुझे यह नहीं बताया कि वे आरएसएस के कार्यकर्ता हैं। मैं एक सेकुलर व्यक्ति हूं। उन लोगों ने मुझे मूर्ख बनाने का काम किया।’

दरअसल कांग्रेस विधायक ने राम मंदिर निर्माण के लिए 8 फरवरी को डोनेशन दिया था। इसके बाद से ही उनकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही थी। कहा जा रहा है कि उन पर अपनी ही पार्टी के नेतृत्व की ओर से दबाव था, जिसके बाद उन्होंने आरएसएस के कार्यकर्ताओं द्वारा मूर्ख बनाए जाने की बात कही है।

यही नहीं पीएफआई से जुड़े राजनीतिक संगठन एसडीपीआई के लोगों ने उनका पुतला भी फूंका है और उनके खिलाफ नारेबाजी की है। 

इस मामले में सफाई देते हुए पेरुम्बवूर सीट से विधायक एल्धोसे कुन्नापिल्ली ने कहा, ‘कुछ लोगों ने मुझे मंदिरों के लिए डोनेशन की बात करते हुए संपर्क किया था। उन्होंने मुझे यह नहीं बताया था कि वे आरएसएस के लोग हैं और राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा जुटा रहे हैं।’ कांग्रेस विधायक ने एक फेसबुक वीडियो में सफाई दी है। उन्होंने कहा कि उनकी ओर से 1,000 रुपये की डोनेशन दी गई थी, लेकिन चंदा लेने आए लोगों ने उसके बारे में हर किसी को यह बताना शुरू कर दिया कि मैंने राम मंदिर के लिए डोनेशन दिया है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *