Nagaur: स्थानीय निकाय चुनाव में नागौर जिले के 9 स्थानीय निकायों के चुनावों की मतगणना रविवार को संपन्न होने के बाद नतीजे सामने आ गए. Nagaur Nagar Parishad के साथ जिले के 8 Nagar Palika क्षेत्रों में से आज चुनावों के नतीजे आ चुके हैं, जिसके बाद जिले की स्थिति यह रही-

नागौर नगर परिषद
कांग्रेस- 27
भाजपा- 12
रालोपा- 0
निर्दलीय- 21

मूंडवा नगरपालिका
कांग्रेस- 11
भाजपा- 02
रालोपा- 11
निर्दलीय- 01

मूंडवा नगर पालिका में बीजेपी का प्रदर्शन निराशाजनक रहा है. यहां पहली बार रालोपा ने कांग्रेस को अपना दमखम दिखाया है. रालोपा और कांग्रेस दोनों को 11-11 सीटें मिली हैं, जबकि भाजपा केवल 2 सीटों पर सिमट गई है। 

कुचेरा नगरपालिका
कांग्रेस- 22
भाजपा- 0
रालोपा- 0
निर्दलीय- 03

यहां कांग्रेस को एकतरफा बहुमत मिला है. बीजेपी और रालोपा यहां अपना खाता तक नहीं खोल सके.

कुचामन सिटी नगरपालिका
कांग्रेस- 20
भाजपा- 18
रालोपा- 00
निर्दलीय- 07

बीजेपी के गढ़ माने जाने वाले कुचामन में इस बार पार्टी सत्ता से बाहर होती नजर आ रही है. हालांकि, कांग्रेस भी बहुमत के आंकड़े से दूर है. यहां निर्दलीयों के सहारे ही सत्ता हासिल की जा सकती है

नावां नगरपालिका
कांग्रेस- 10
भाजपा- 13
रालोपा- 00
निर्दलीय- 02

यहां बीजेपी ने बहुमत के आंकड़े को छुआ है. अगर कोई उलटफेर नहीं हुआ तो यहां बीजेपी का बोर्ड बनना तय है.

परबतसर नगरपालिका
कांग्रेस- 07
भाजपा- 14
रालोपा- 00
निर्दलीय- 04

यहां भाजपा को स्पष्ट बहुमत मिला है. 25 सीटों में से 14 पर भाजपा ने कब्जा किया है जबकि कांग्रेस को यहां 7 सीटों पर ही तसल्ली करनी पड़ा है. निर्दलीयों को भी 4 सीटें मिली हैं. यहां बोर्ड भाजपा का बनना तय है.

लाडनूं नगरपालिका
कांग्रेस- 17
भाजपा- 13
रालोपा- 0
निर्दलीय-15

लाडनूं नगरपालिका चुनावों में विधायक मुकेश बहकर की साख दांव पर लगी थी. लेकिन भाजपा की गुटबाजी की वजह से विधायक कुछ हद तक इस साख को बचाने में कामयाब रहे. हालांकि, स्पष्ट बहुमत यहां किसी को नही मिला है और निर्दलीयों के हाथ मे सत्ता की चाभी रहेगी.

मेड़ता नगरपालिका
कांग्रेस- 17
भाजपा- 15
रालोपा- 0
निर्दलीय- 08

मेड़ता सिटी के 40 वार्डों में से कांग्रेस को 17 सीटों पर जीत मिली जबकि भाजपा को 15 सीटों पर ही संतुष्टि करनी पड़ी. यहां भी किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है और सत्ता की डोर निर्दलीयों के हाथ में रहने वाली है.

डेगाना नगरपालिका
कांग्रेस- 14
भाजपा- 08
रालोपा- 00
निर्दलीय- 03

यहां कांग्रेस को पूर्ण बहुमत मिला है और कांग्रेस का बोर्ड बनना तय है.

वहीं, पूरे जिले की अगर बात की जाए तो कांग्रेस और भाजपा दोनों को दो-दो स्थानों पर स्पष्ट बहुमत मिला है. जबकि 4 स्थानों पर कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है. मूंडवा में रालोपा और कांग्रेस दोनों को 11-11 सीट मिली है. शहरों की पार्टी कही जाने वाली भाजपा का जिले में सूपड़ा साफ हो गया है. पहली बार चुनाव लड़ रही रालोपा पूरे जिले में केवल मूंडवा में सिमट कर रह गई है.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *