प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पंजाब दौरे के दौरान ”सुरक्षा चूक” को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी बीजेपी की आलोचनाओं का सामना कर रहे हैं।

बीजेपी के कई बड़े नेताओं ने पंजाब सरकार को बर्खास्त करने तक की मांग कर डाली है। इस बीच चन्नी ने एक रैली में इस मुद्दो को उठाते हुए पीएम मोदी पर जमकर हमला बोला है। 

टांडा में गुरुवार को रैली को संबोधित करते हुए चन्नी ने तंज कसते हुए कहा कि पूरे देश में झूठ फैलाया जा रहा है कि पीएम की सुरक्षा में कोई चूक हुई थी। वीडियो मे वे कहते हैं, “तुझे क्या किसी ने पत्थर मार दिया….कोई खरोंच आई…कोई गोली लगी या….किसी ने तेरे खिलाफ नारे लगाए…जो पूरे देश में ये फैलाया जा रहा है कि प्रधानमंत्री की जान को खतरा हो गया।”

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने नरेंद्र मोदी की ”जान को खतरे की नौटंकी” का उद्देश्य राज्य में ”लोकतांत्रिक ढंग से चुनी गई सरकार को गिराने” का है। चन्नी ने कहा कि प्रधानमंत्री देश के एक सम्मानित नेता हैं, लेकिन उनके कद के नेता को इस तरह की ”घटिया नौटंकी” में शामिल होना शोभा नहीं देता।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर प्रदर्शनकारी एक किलोमीटर से अधिक दूर थे तो प्रधानमंत्री की जान को खतरा कैसे हुआ। उन्होंने कहा कि जहां मोदी का काफिला रुका, वहां एक नारा भी नहीं लगा, तो उनकी जान को खतरा कैसे हो सकता था। चन्नी ने कहा कि पंजाबियों ने देश की एकता, अखंडता और संप्रभुता के लिए अपने प्राणों की आहुति दी है और वे कभी भी प्रधानमंत्री के जीवन तथा सुरक्षा के लिए कोई खतरा पैदा नहीं कर सकते।

चन्नी यहां न्यू अनाज मंडी में 18 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की आधारशिला रखने के बाद एक सभा को संबोधित कर रहे थे। चन्नी ने यहां दसूया में एक अन्य सभा को भी संबोधित किया जहां उन्होंने आरोप लगाया कि बुधवार को भाजपा की रैली की “विफलता” इस तथ्य का प्रतिबिंब थी कि बुद्धिमान पंजाबियों ने पार्टी के “विभाजनकारी” एजेंडे को पूरी तरह से खारिज कर दिया है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment