8.7 C
London
Tuesday, March 5, 2024

चिराग पासवान से बगावत करने वाले चचेरे भाई प्रिंस राज की बढ़ी मुश्किलें, लड़की ने लगाया रेप का आरोप

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नई दिल्ली: लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में चल रहे सियासी घमासान के बीच चिराग पासवान (Chirag Paswan) के चचेरे भाई प्रिंस राज (Prince Raj) की मुश्किलें बढ़ गई हैं. बिहार के समस्तीपुर से लोजपा सांसद प्रिंस के खिलाफ एक महिला ने कथित तौर पर यौन शोषण का आरोप लगाते हुए दिल्ली के कनॉट प्लेस पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है.

प्रिंस के खिलाफ अभी तक FIR दर्ज नहीं

Zee News की अंग्रेजी वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने कहा है कि उन्हें एक शिकायत मिली है और इसको लेकर जांच जारी है. सूत्रों ने बताया कि इसको लेकर कोई प्राथमिकी (FIR) दर्ज नहीं की गई है. बता दें कि प्रिंस, रामविलास पासवान (Ram Vilas Paswan) के भाई रामचंद्र पासवान के बेटे हैं. रामचंद्र पासवान के निधन के बाद प्रिंस ने समस्तीपुर लोक सभा सीट से जीत दर्ज की थी.

प्रिंस ने चिराग पासवान से की बगावत

प्रिंस राज (Prince Raj) अपने चचेरे भाई चिराग पासवान (Chirag Paswan) के काफी करीबी थे, लेकिन फिलहाल वह उनके विरोध में हैं और पशुपति कुमार पारस के साथ मिलकर बगावत कर दिया है. लोक सभा चुनाव के दौरान चिराग ने प्रिंस को सपोर्ट किया था और चुनाव जीतने के बाद प्रिंस को बिहार प्रदेश लोजपा का अध्यक्ष भी बनाया था.

दो धड़ों में बंटी लोक जनशक्ति पार्टी

2020 में पिता रामविलास पासवान के निधन के बाद लोजपा (LJP) का कार्यभार संभालने वाले चिराग अब पार्टी में अलग-थलग पड़ते नजर आ रहे हैं. असंतुष्ट लोजपा सांसदों में पशुपति कुमार पारस, प्रिंस राज, चंदन सिंह, वीना देवी और महबूब अली कैसर शामिल हैं, जो चिराग के काम करने के तरीके से नाखुश हैं. लोजपा चिराग पासवान और पशुपति कुमार पारस की अगुवाई वाले दो धड़ों में बंट गई है. पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पांच असंतुष्ट सांसदों को निष्कासित करने का दावा किया गया, वहीं पशुपति पारस नीत गुट ने चिराग पासवान को पार्टी अध्यक्ष पद से हटा दिया.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here