धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में आमिर खान के खिलाफ केस दर्ज

मनोरंजनधार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के आरोप में आमिर खान के खिलाफ केस दर्ज

बॉलीवुड अभिनेता आमिर खान की की फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ 11 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है लेकिन रिलीज के बाद भी विवादों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। फिल्म के बायकॉट की बढ़ती मांग और विरोध के बीच अब आमिर खान के खिलाफ इस फिल्म के जरिए भारतीय सेना का अपमान करने और हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की शिकायत दर्ज की गई है।

आमिर खान के खिलाफ सेना का अपमान करने का आरोप

रिपोर्ट्स के मुताबिक आमिर खान पर शुक्रवार यानी कल केस दर्ज हुई है। दिल्ली के एक वकील एडवोकेट विनीत जिंदल ने आमिर खान के खिलाफ केस करते हुए उनपर इंडियन आर्मी का अपमान करने और धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया है।

क्या है पूरा मामला

दरअसल एडवोकेट विनीत जिंदल का कहना है कि फिल्म में मेकर्स ने एक मानसिक रूप से कमजोर व्यक्ति को सेना में शामिल होकर करगिल की लड़ाई में लड़ते दिखाया गया है। यह सभी को पता है कि सेना के सबसे बेहतरीन जवानों को करगिल की लड़ाई में लड़ने भेजा गया था जिनकी सख्त ट्रेनिंग हुई थी। लेकिन फिल्म में जानबूझकर भारतीय सेना का अपमान करने की कोशिश की गई है।

इन धाराओं में हुआ केस दर्ज

बता दें कि आमिर खान के खिलाफ धारा 153, 153A, 298 और 505 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। आमिर खान के साथ साथ वकील ने लाल सिंह चड्ढा के डायरेक्टर अद्वैत चंदन और पैरामाउंट पिक्चर्स प्रोडक्शन हाउस के खिलाफ शिकायत दर्ज की है।

धार्मित भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

गौरतलब है कि फिल्म में एक पाकिस्तानी सैनिक आमिर के किरदार लाल सिंह चड्ढा से कहता है कि मैं नमाज करके प्रार्थना करता हूं, लाल, तुम भी ऐसा क्यों नहीं करते? इसके जवाब में लाल सिंह चड्ढा के किरदार में आमिर खान कहते हैं कि मेरी मां ने कहा था सारे पूजा पाठ मलेरिया हैं और इसी के कारण दंगे होते हैं। वकील ने दावा किया है कि फिल्म का यह सीन धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाता है। हिंदु समुदाय के लिए एक्टर का ये स्टेटमेंट देश की सुरक्षा, शांति को भंग करने का काम कर सकता है।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles