उत्तर प्रदेश: यूपी की बाँदा जेल में बंद विधायक मुख़्तार अंसारी बाराबंकी में एमपी एमलए कोर्ट में वर्चुअल पेशी के दौरान ने अपने खाने में ज़हर मिलाने की आशंका जताई उन्होंने कहा योगी सरकार मेरे ख़िलाफ़ है, जेल में मेरे खाने में ज़हर मिलाया जा सकता है जिसके ख़ातिर उन्होंने कोर्ट में उच्च श्रेणी की सुरक्षा की सुविधा की माँग की है। 

बाराबंकी की एमपी एमएलए कोर्ट में जब फ़र्ज़ी एम्बुलेंस कांड की सुनवाई के दौरान मुख़्तार अंसारी के वकील रणधीर सुमन ने धारा -287A के तहत उन्हें उच्च श्रेणी की सुरक्षा देने की माँग की है उनके वकील ने कहा राज्य सरकार उनके ख़िलाफ़ है और उनके खाने में ज़हर मिला सकती है। उनके वकील के मुताबिक़ सुरक्षा देने के मामले की सुनवाई के लिए अगली तारीख़ 7 अक्तूबर तय की गई है। वकील के मुताबिक़ जज कमलाकांत श्रीवास्तव ने इस मामले में जल्द हाई कोई निर्णय लेने की बात भी कही है। वर्चुअल पेशी के दौरान मुख़्तार अंसारी ने कोर्ट से कहाँ की में 25 सालों से यूपी विधानसभा का सदस्य हूँ विधायक होने के नाते मुझे हाई सिक्योरिटी की सुविधा मुहैया करा दीजिए।

हालाँकि मुख़्तार अंसारी को बाँदा की हाई सिक्योरिटी जेल में रखा गया है लेकिन उनके परिवार ने उनकी सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े किये थे हाल हाई में उनके परिवार ने एमपी एमएलए कोर्ट में एक याचिका दाख़िल की थी जिसमें परिवार ने जेल के अंदर मुख़्तार की हत्या की आशंका जताई थी। याचिका में जेल के अंदर मानसिक उत्पीड़न की बात भी कही गई थी।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment