BJP नेता और सांसद Varun Gandhi की शिवसेना सांसद संजय राउत से मुलाकात के बाद राजनीति गर्म हो गई है। संजय राउत ने भी इस बात की पुष्टि की है कि उनकी और वरुण गांधी की मुलाकात हुई है, न सिर्फ मुलाकात बल्कि राजनीतिक चर्चा भी हुई है।

राउत के इस इस बयान के बाद यह कयास भी लग रहे हैं कि वरुण गांधी बीजेपी छोड़ शिवसेना जॉइन कर सकते हैं।

संजय राउत ने कहा कि काफी दिनों से यह मुलाकात तय थी। लेकिन हमारे बीच में समय फिक्स नहीं हो पा रहा था। उन्होंने कहा आगे भी हम इसी प्रकार से मुलाकात करते रहेंगे। राउत के कांग्रेस नेता राहुल गांधी से घनिष्ठ संबंध हैं। ऐसे में वरुण गांधी से राउत की मुलाकात के सियासी मायने भी निकाले जा रहे हैं।

संजय राउत ने कहा कि वरुण गांधी के साथ मेरी कई विषयों पर चर्चा हुई। वो एक बेहतरीन लेखक हैं, अच्छी किताबें लिखते हैं। कई विषयों पर अच्छी- खासी चर्चा भी करते हैं। ऐसी मुलाकातों में राजनीतिक विषय पर चर्चा होना भी स्वाभाविक है।

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी अक्सर अपनी ही पार्टी की नीतियों और फैसलों का विरोध करते हुए नजर आते हैं। हाल में उन्होंने बैंक और रेलवे के निजीकरण को लेकर चिंता जताई थी। उन्होंने कहा कि सरकार के इस कदम से बहुत सारे लोगों के रोजगार चले जाएंगे।

वरुण गांधी ने कुछ दिनों पहले ट्वीट करते हुए लिखा था कि विजय माल्या 9हजार करोड़, नीरव मोदी 14 हजार करोड़ और ऋषि अग्रवाल 23 हजार करोड़ रुपये लेकर फरार हैं। आज जब कर्ज के बोझ के तले दबकर रोज 14 लोग आत्महत्या कर रहे हैं। तब ऐसे धनपशुओं का जीवन वैभव के चरम पर हैं। मजबूत सरकार से मजबूत कार्रवाई की अपेक्षा की जाती है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment