नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) में मुस्लिम विरोधी नारे लगाने वालों में बीजेपी प्रवक्ता अश्विनी उपाध्याय भी शामिल थे. पुलिस सूत्रों के अनुसार उनका गिरफ्तारी हो सकती है. दिल्ली पुलिस अश्विनी उपाध्याय और अन्य चिन्हित लोगों की गिरफ्तारी के लिए रेड कर रही है. किसी भी वक्त सभी को गिरफ्तार किया जा सकता है. दिल्ली पुलिस भड़काऊ भाषण देने के मामले में एक्शन में है. अश्विनी उपाध्याय की गिरफ्तारी हो सकती है. गौरतलब है कि जंतर-मंतर (Jantar Mantar) पर अश्विनी उपाध्याय के कार्यक्रम के दौरान कुछ लोगों ने अभद्र आपत्तिजनक और भड़काऊ टिप्पणियां की थी.  

एक विशेष समुदाय पर की गई आपत्तिजनक टिप्पणी का मामला पुलिस तक पहुंचा और वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की. ऐसा माना जा रहा है कि दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

देश की राजधानी दिल्‍ली के जंतर-मंतर इलाके में एक ‘मार्च’ में कथित तौर पर सांप्रदायिक नारे (communal slogans) लगाए गए. कथित तौर पर इस ‘मार्च’ का वीडियो रविवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. पुलिस का कहना है कि उसकी इजाजत के बिना इस मार्च (March) को आयोजित किया गया था. बताया जाता है कि यह मार्च, सुप्रीम कोर्ट के वकील अश्विनी उपाध्‍याय की ओर से आयोजित किया गया था. वैसे उपाध्‍याय का कहना है कि उन्‍हें वीडियो के बारे में जानकारी नहीं है. केवल पांच या छह लोग ही नारे लगा रहे थे. उन्‍होंने कहा कि ऐसे नारे नहीं लगाए जाने चाहिए थे. 

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment