6.8 C
London
Thursday, April 18, 2024

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के बयान पर भड़का ‘बीजेपी सांसद’, दे डाला ‘विवादित’ बयान

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

नई दिल्ली: ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड (AIMPLB) के महासचिव मौलाना खालिद सैफुल्लाह रहमानी ने कहा कि भारत का मुसलमान इस वक्त 1857 और 1947 से भी मुश्किल दौर से गुजर रहा है. इस पर 
पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी (BJP) के लोक सभा सांसद प्रवेश वर्मा (Pravesh Verma) ने ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए विवादित ब्याज दिया है कि अगर उन्हें लगता है कि देश में मुसलमान अपने सबसे खराब दौर से गुजर रहा है तो पाकिस्तान में उनके लिए अच्छे हालात हैं, उन्हें वहां चले जाना चाहिए या दुनिया के किसी भी अन्य ऐसे देश में चले जाना चाहिए जिसे वो मुसलमानों के लिए अच्छा मानते हों. 

मोदी सरकार के कार्यकाल में नहीं हुआ कोई दंगा

सांसद प्रवेश वर्मा ने कहा कि मोदी सरकार के सात साल के कार्यकाल में देश में कोई दंगा नहीं हुआ. मोदी सरकार की योजनाओं का सबसे ज्यादा फायदा कौन लोग उठा रहे हैं, सबको पता है. इसलिए मुस्लिम समाज से मेरी अपील है कि वो इस तरह के भड़काऊ बयान के झांसे में न आएं. 

मौलाना खालिद सैफुल्लाह रहमानी ने क्या कहा था?

आपको बता दें कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव मौलाना खालिद सैफुल्लाह रहमानी (Maulana Khalid Saifullah Rahmani) ने ये बयान दिया था कि भारत का मुसलमान 1857 और 1947 से भी मुश्किल दौर से गुजर रहा है. शरीयत-ए-इस्लामी पर हमला करने की कोशिशें की जा रही हैं. मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है.

दक्षिणी दिल्ली में नवरात्रि के दौरान मीट पर लगा बैन

नवरात्रि के दौरान, दक्षिणी दिल्ली नगर निगम की तरफ से मीट पर बैन लगाने का समर्थन करते हुए दिल्ली से बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा ने कहा कि दिल्ली के तीनों नगर निगमों सहित पूरे देश में इस तरह का प्रतिबंध लगाना चाहिए क्योंकि देश के सभी धर्मों को एक दूसरे के धर्म और त्योहार का सम्मान करना चाहिए.

उन्होंने कहा कि देश की माताएं-बहनें, पुरुष और वो खुद यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी नवरात्रि का व्रत रखते हैं. ऐसे व्रती के सामने नॉनवेज की कोई दुकान खुली हो तो उन्हें मन में कैसा महसूस होगा. उन सभी व्रतियों का सम्मान करते हुए पूरे देश में नवरात्रि के दौरान इस तरह का नियम लागू करना चाहिए.

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here