देहरादून. साल 2017 में फर्जी हस्ताक्षर कर सम्पति को खुर्द बुर्द करने के मामले में फरार चल रही नाजिया को कोच्चि अन्तर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से अरेस्ट किया जा रहा है. बताया जा रहा है कि टिहरी विधायक किशोर उपाध्याय के भाई सचिन उपाध्याय की पत्नी नाजिया यूसुफ कोच्चि से विदेश भागने की फिराक में थी. लंबे समय से फरार नाजिया को पुलिस ने इनामी घोषित कर लुकआउट नोटिस जारी किया था इसलिए नाजिया को एयरपोर्ट अथॉरिटी ने डिटेन कर उत्तराखंड पुलिस को सूचना दी.

धोखाधड़ी की आरोपी सचिन उपाध्याय की पत्नी नाजिया यूसुफ पर पुलिस ने एक हजार रुपये का इनाम घोषित किया है. धोखाधड़ी के मामले में सचिन उपाध्याय को पहले गिरफ्तार किया जा चुका है, जो फिलहाल बेल पर बाहर हैं. बता दें कि नाजिया और सचिन के खिलाफ देहरादून के राजपुर थाने में धोखाधड़ी, जालसाजी और आपराधिक साजिश के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया था.

क्या है ये पूरा मामला?
आरोप है कि इन दोनों ने अपने पार्टनर मुकेश जोशी की करीब 26 करोड़ की संपत्ति को खुर्द बुर्द कर खुद को मालिक बताते हुए बैंकों से करोड़ों रुपये का लोन ले लिया था. इस मामले में 2017 में राजपुर थाने में भी मुकदमा दर्ज हुआ था. मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस ने इस पूरे मामले में फाइनल रिपोर्ट कोर्ट को दी थी, लेकिन, बाद में कोर्ट के दखल के बाद एफआईर वापस लेते हुए नया मुकदमा 19 जनवरी 2020 को दर्ज किया गया था.

इस मुकदमे में सचिन उपाध्याय को तो गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन, नाजिया पुलिस के हाथ नहीं लग सकी थी. ऐसे में एसीजेएम कोर्ट ने उसके खिलाफ कुर्की की कार्रवाई करते हुए उसे भगोड़ा घोषित कर दिया था. अब एसपी क्राइम विशाखा भड़ाने अशोक का कहना है कि आरोपी नाजिया को कोच्चि में डिटेन किया है, जिसको अरेस्ट करने के लिए दून पुलिस रवाना हो गई है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment