पटना. यूपी शिया वक़्फ़ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी (Wasim Rijwi) ने इस्लाम धर्म छोड़ हिंदू धर्म (Hindu Religion) अपना लिया है जिसके बाद से ही मामले ने तूल पकड़ लिया है लेकिन इसी बीच इसकी चर्चा बिहार के सियासी गलियारे में भी तेज होती जा रही है. बिहार भाजपा (BJP) के वरिष्ठ नेता और अपने बयानों से चर्चा में आने वाले विधायक हरि भूषण ठाकुर बचौल (BJP MLA Hari Bhushan Thakur) ने वसीम रिजवी के मुस्लिम धर्म से हिंदू धर्म में आने पर बड़ा बयान दिया है. ठाकुर ने कहा कि वसीम रिजवी नहीं अब जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी कहिए. इन्होंने जो फैसला किया है उसका हम स्वागत करते हैं.

बीजेपी विधायक ठाकुर ने कहा कि जितेंद्र नारायण सिंह जी ने धर्म परिवर्तन नहीं किया है बल्कि उनकी घर वापसी हुई है. अब वो आए हैं तो सनातन धर्म की रक्षा में लगेंगे जो भारत की असली आत्मा है. भाजपा विधायक यहीं नहीं रुके. उन्होंने विवादास्पद बयान देते हुए कहा कि भारत में 99 प्रतिशत मुस्लिम आबादी का मूल धर्म हिंदू ही है. अगर उन्हें इस बात पर यकीन नहीं है या शक है तो वो अपना DNA टेस्ट भी करवा सकते हैं, जिससे सारी सच्चाई दूध की तरह साफ हो जाएगी और देर सवेर उनको भी सनातन धर्म के साथ ही आना होगा.

हरि भूषण ठाकुर के बयान पर JDU ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. पार्टी के  MLC ग़ुलाम गौस ने कहा कि कुछ लोगों को बोलने की आदत होती है, वो कुछ भी बोलते हैं. हर धर्म की अपनी अहमियत है. कोई भी किसी भी धर्म को अपना सकता है इसमे बंदिश थोड़े ही ना है. JDU के MLC गुलाम गौस ने वसीम रिजवी के इस्लाम धर्म को छोड़ कर हिंदू धर्म अपनाने पर साफ-साफ तो कुछ नहीं बोला लेकिन इशारों में फैसले पर सवाल खड़ा कर चुटीले अन्दाज में ही सही हमला ज़रूर बोला. उन्होंने कहा कि हर धर्म में कुछ ऐसे लोग होते हैं जो अपने निजी स्वार्थ के लिए धर्म बदल लेते हैं.

कौन हैं वसीम रिजवी

UP वक़्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी ने सोमवार को मुस्लिम धर्म छोड़ कर हिंदू धर्म अपना लिया है. इसके बाद उनका नाम जितेंद्र नारायण सिंह त्यागी हो गया है और इसी के बाद विवाद बढ़ गया है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment