नई दिल्ली, 22 फरवरी: तमिलनाडु में मंगलवार को स्थानीय निकाय चुनाव के नतीजे घोषित किए गए। शाम 4 बजे तक घोषित चुनाव परिणाम के मुताबिक, 200 वार्ड में से 131 वार्ड पर मतगणना पूरी हो गई, जिसमें से 104 पार्षदों की सीटें हासिल कर डीएमके ने ग्रेटर चेन्नई नगर निगम पर जीत हासिल की। वहीं एआईएडीएमके को 12 और कांग्रेस को 7 सीटों पर जीत मिली। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी का एक उम्मीदवार ऐसा भी रहा, जिसे मतगणना में केवल एक ही वोट मिला। चुनाव परिणाम के बाद भाजपा के इस प्रत्याशी ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और अन्य लोगों पर उसे धोखा देने का आरोप लगाया है।

‘भाजपा के नरेंद्रन को मिला केवल 1 वोट’

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, तमिलनाडु के इरोड जिले की भवानीसागर नगर पंचायत के वार्ड 11 से भारतीय जनता पार्टी ने नरेंद्रन नाम के उम्मीदवार को टिकट दिया था। मंगलवार को जब चुनाव नतीजों का ऐलान हुआ, और वार्ड 11 की मतगणना पूरी हुई तो नरेंद्रन के खाते में केवल एक वोट यानी उनका खुद का वोट ही आया।

‘झूठे आश्वासन देकर मुझे धोखे में रखा’

वोटों की गिनती पूरी होने के बाद दुखी मन से नरेंद्रन मतगणना केंद्र से बाहर निकले, जहां पत्रकारों से बात करते हुए उनका दर्द छलक आया। मीडिया से बात करते हुए नरेंद्रन ने कहा, ‘मैं बहुत मेहनत से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ा, लेकिन मेरी अपनी ही पार्टी के कार्यकर्ताओं, दोस्तों और परिवार के लोगों ने ही मुझे वोट नहीं दिया। सब लोगों ने मुझे केवल झूठे आश्वासन देकर धोखे में रखा।’

I’m

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment