दादर के शिवाजी पार्क इलाके में भाजपा और शिवसेना के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए हैं. भाजपा महिला पदाधिकारियों ने आरोप लगाया है कि शिवसेना कार्यकर्ताओं ने उनके साथ मारपीट की है. भाजपा कार्यकर्ताओं ने राम मंदिर विषय पर लगातार बोल रही शिवसेना के खिलाफ ‘फटकार मोर्चा’ निकाला था.

उनका यह मोर्चा दादर स्थित शिवसेना भवन के सामने पहुंचा था. सेना भवन में पहले से ही शिवसेना के कार्यकर्ता मौजूद थे. बाहर पुलिस का भी कड़ा बंदोबस्त था लेकिन जैसे ही BJP कार्यकर्ता वहां पहुंचे शिवसेना और भाजपा के कार्यकर्ता एक दूसरे से भिड़ गए.

शिवसेना भवन (Shiv Sena Bhavan) से थोड़ी दूर पर ही पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं को रोक दिया है और उन्हें पुलिस स्टेशन ले जाया गया है. दूसरी तरफ भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि शिवसेना कार्यकर्ताओं ने उनके साथ मार-पीट की है. खास महिला पदाधिकारियों को लाठी से पीटा गया है.

पुलिस वैन में जाते हुए भाजपा कार्यकर्ताओं की शिवसैनिकों ने की पिटाई

अयोध्या में श्री राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन खरीद में हुए तथाकथित घोटाले को लेकर शिवसेना की ओर से लगातार सवाल उठाए जा रहे थे. भाजपा का कहना है कि शिवसेना जानबूझ कर झूठे आरोप लगा रही है. इसलिए शिवसेना द्वारा लगातर किए जा रहे आरोपों के खिलाफ भाजपा ने बुधवार को ‘फटकार मोर्चा’ निकाला था.

भाजपा युवामोर्चा मुंबई के अध्यक्ष तेजिंदर सिंह तिवाना के नेतृत्व में यह मोर्चा जब दादर के शिवाजी पार्क में स्थित शिवसेना भवन से 5 किलोमीटर के अंतर पर पहुंचा तो पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं को रोक दिया. उन्हें पुलिस वैन में जब ले जाया जा रहा था तो शिवसेना भवन के सामने उपस्थित विधायक सद सरवणकर के नेतृत्व में शिवसेना कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी. इसी बीच भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने मारपीट की और भाजपा की कुछ महिला पदाधिकारियों को बुरी तरह से जख्मी कर दिया.

भाजपा का आरोप क्या?

बीजेपी की ओर से कहा गया कि अयोध्या में श्री राम मंदिर के निर्माण के लिए जमीन खरीद मामले में घोटाला होने का झूठा आरोप लगाते हुए शिवसेना उर्फ सोनिया सेना ने हिंदू धर्म, हिंदू धार्मिक स्थल और हिंदुओं के श्रद्धा और आस्था का अपमान किया है. भारतीय जनता युवा मोर्चा की मुंबई इकाई की ओर से इसके खिलाफ आज ‘फटकार मोर्चा’ निकाला गया है. यह मोर्चा दादर के शिवाजी पार्क में स्थित शिवसेना भवन के सामने किया जाना था. लेकिन पांच किलोमीटर दूर ही पुलिस ने भाजपा कार्यकर्ताओं को रोक दिया. इस बीच शिवसैनिकों ने भाजपा कार्यकर्ताओं की पिटाई की और खासकर भाजपा की महिला कार्यकर्ताओं को बुरी तरह से पीटा गया.

शिवसेना की मांग क्या?

दूसरी तरफ शिवसेना की ओर से सांसद अरविंद सावंत ने इस घटना पर कहा कि यह क्रिया की प्रतिक्रिया है. जैसा सवाल आएगा वैसा जवाब जाएगा. राम मंदिर के निर्माण के लिए दुनिया भर से सैंकड़ो करोड़ रुपए जमा किए गए हैं. प्रभु रामचंद्र के नाम पर एक भी घोटाला नहीं होना चाहिए. श्री रामजन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट में भाजपा से संबंधित सदस्य हैं. शिवसेना सांसद संजय राउत ने इस बारे में ट्रस्ट से तो सफाई मांगी ही थी साथ ही पीएम नरेंद्र मोदी, आरएसएस सरसंघचालक मोहन भागवत और विश्व हिंदू परिषद से भी इस मामले में हस्तक्षेप करने और सफाई देने की मांग की थी.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment