उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के बढ़पुरा इलाके में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के दौरान एसपी सिटी पर कातिलाना हमला कर गोलीबारी ओर उपद्रव करने वाले भारतीय जनता पार्टी के नेता विमल भदौरिया समेत करीब सवा सौ लोगों के खिलाफ मुदकमा दर्ज किया गया है।

इटावा के एसएसपी डॉ ब्रजेश कुमार सिंह ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बढ़पुरा थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार शर्मा ने मुकदमा दर्ज कराया है। उन्होंने बताया कि बीजेपी नेता विमल भदौरिया समेत करीब 100-125 साथियों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 323, 353, 307, 269, 270, 188, 51, 57, 3 और सीसीएलए एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

एसएसपी ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ सबूत के तौर पर बड़े पैमाने पर वीडियो कलेक्ट किये गए है, जिनका पुलिस के कई अधिकारी अध्ययन करने में लगे हुए हैं। उन्होंने बताया कि क्षेत्र पंचायत प्रमुख के निर्वाचन के दौरान उदी चैराहे पर स्थित बैरियर ड्यूटी पर दोपहर करीब 1 बजे भारतीय जनता पार्टी के नेता विमल भदौरिया के नेतृत्व में करीब सौ से सवा सौ लोग आए और बेरिकेडिंग तोड़ने का प्रयास करते हुए ब्लॉक परिसर की ओर आने की कोशिश की।

पुलिस के रोकने पर उग्र भाजपाइयों ने आक्रमाक हो कर पथराव करने लगे। इतना ही नहीं उनके हाथों में लाठी-डंडे भी थे। उग्र लोगों की ओर से फायरिंग भी की गई। रोकने की कोशिश पर एसपी सिटी प्रशांत कुमार ने की तो उनके साथ गाली गलौज व हाथापाई करते हुए धक्का देकर नीचे गिरा दिया, जिससे वह घायल हो गए। वरिष्ठ उप निरीक्षक राजेश कुमार सिंह ने उन्हें बचाने का प्रयास किया तो इन लोगों ने उनके साथ भी गाली गलौज करते हुए मारपीट व हाथापाई कर लाठी-डंडों से प्रहार किया, जिससे वहां पर भगदड़ मच गई।

ये है पूरा मामला

एसएसपी ने बताया कि उपद्रवियों की ओर से किए गए फायर के 7 खाली खोकों को भी पुलिस ने बरामद किया है। मौके से ईंट, पत्थर, जूते, चप्पल व लाठी-डंडे भी बरामद किए गए हैं। पुलिस ने कब्जे में लेकर के मुकदमा दर्ज किया है। बता दें कि शनिवार को ब्लॉक प्रमुख पद के मतदान के दौरान एसपी सिटी प्रशांत कुमार को भाजपा नेता विमल भदौरिया की ओर से तमाचा मारे जाने का मामला सारे देश मे सुर्ख़ियों में बना हुआ है। एसपी सिटी प्रशांत कुमार का जो वीडियो वायरल हुआ है उसमे वो साफ साफ कहते हुए देखे जा रहे है कि भारतीय जनता पार्टी की एमएलए सरिता भदौरिया और भाजपा अध्यक्ष अजय धाकरे की मौजूदगी मे विमल भदौरिया ने उनको थप्पड़ मारा है। यह लोग हाथों में बम और गोले भी लेकर आये थे। विमल भदौरिया के खिलाफ एक दर्जन के आसपास अपराधिक मामले दर्ज है। उनकी हिस्ट्रीशीट भी बढपुरा थाने मे खुली हुई है। पुलिस रिकार्ड में विमल भदौरिया को अपराध के जरिये आर्थिक धन संकलन का काम करना भी बताया गया है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment