बरेली, 09 मार्च: वाराणसी में ईवीएम से भरे ट्रक पकड़ने का मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि बरेली जिले में कूड़े की गाड़ी में बैलेट पेपर से भरे 3 संदूक मिलने से हड़कंप मच गया है। कूड़े गाड़ी में बैलेट पेपर मिलने की सूचना पर बड़ी संख्या में सपा कार्यकर्ता समेत अन्य दलों के नेता मौके पर पहुंच गए और हंगामा शुरू कर दिया।

मामले की गंभीरता को देखते हुए मौके पर डीएम और एसएसपी के साथ बड़ी संख्‍या में पुलिस पहुंची और किसी तरह से हंगामे को शांत कराया। बड़ी मात्रा में बैलट पेपर मिलने की शिकायत चुनाव आयोग से भी की गई है।

बता दें, परसाखेड़ा के स्टेट वेयरहाउस को स्ट्रांग रूम बनाया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुछ सपा नेताओं को मंगलवार देर शाम सूचना मिली कि नगर निगम का कूडा़ उठाने वाला एक ट्रक संदिग्ध हालत में वेयर हाउस के बाहर खड़ा है।

जहां ट्रक खड़ा है वहां जिले भर की ईवीएम और बैलेट पेपर रखे गए हैं। उन्होंने ट्रक चेक किया तो उसमें बैलेट पेपर से भरे 3 संदूक मौजूद थे। जिसके बाद सपाइयों ने नारेबाजी करते हुए हंगामा शुरू कर दिया। सूचना मिलते ही सपा के जिला और महानगर संगठन के कार्यकर्ताओं के साथ तमाम उम्मीदवार मौके पर पहुंच गए।

चुनाव आयोग से शिकायत
पूर्व मंत्री और भोजीपुरा से प्रत्यासी शहजिल इस्लाम ने मामले की शिकायत चुनाव आयोग से की है। उन्‍होंने इसे इसे भाजपा की साजिश बताते हुए जांच के साथ कार्रवाई की मांग की। मतगणना स्थल के बाहर बैलेट पेपर से भरे संदूक मिलने और सपा नेताओं द्वारा हंगामा करने की सूचना डीएम और एसएसपी के साथ बड़ी संख्‍या में पुलिस पहुंची गई।

डीएम शिवकांत द्विवेदी ने कहा कि आरओ की गलती थी। उसने चुनाव से जुड़ी सामग्री कूड़े की गाड़ी में भेज दी थी। इसी बात को लेकर कुछ लोगों ने आपत्ति की थी, लेकिन अब उनको बुलाकर बात हो गई है। कहा कि इस प्रकरण में जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment