उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के एक मंदिर परिसर में लड़की के साथ हुई दुष्कर्म और फिर उसकी हत्या के मामले में अब मंदिर के पुजारी के खिलाफ केस चेगा। पुलिस के मुताबिक लड़की के साथ दुष्कर्म किया गया था। पुलिस ने दावा किया है कि उसके पास काफी सबूत मौजूद हैं और इन्हीं सबूतों के आधार पर तीन आरोपियों के खिलाफ अदालत में चार्जशीट दाखिल की गई है। इस केस में महज 44 दिनों के अंदर पुलिस ने चार्जशीट दाखिल कर दी है।

जनवरी में हुई थी वारदात: आपको बता दें कि मंदिर में हुई यह वारदात 3 जनवरी की है। बताया जा रहा है कि पीड़िता अपने मायके में आई थी और इस मंदिर में पूजा करने गई थी। लेकिन आरोप है कि यहां महिला के साथ दुष्कर्म किया गया और फिर उनकी हत्या कर दी गई। शुरू में कहा गया कि कुआं में गिरने की वजह से महिला की मौत हो गई है।

पोस्टमार्टम से खुला राज: महिला की मौत के मामले में पुलिसिया तफ्तीश जारी थी और फिर जब पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई तब पुलिस के भी होश उड़ गए। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ कि महिला के प्राइवेट पार्ट में चोट लगी थी। इस मामले में तुरंत लापरवाही बरतने के आरोप में एक इंस्पेक्टर को सस्पेंड भी कर दिया।

2 दिन बाद धराया पुजारी: महिला के साथ दुष्कर्म और फिर उसकी हत्या किये जाने की इस घटना ने पुलिस महकमे में हड़कंप मचा दिया। पुलिस ने तफ्तीश के दौरान मंदिर के पुजारी के 2 शिष्य वेदराम और गांव के ही एक ड्राइवर जसपाल को पकड़ा।

हालांकि इस मामले का मुख्य आरोपी यानी पुजारी सत्यनारायण घटना के 2 दिन बाद पकड़ा गया था। बदायूं एसएसपी संकल्प शर्मा ने बताया कि इस कांड में तीनों आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी गयी है। मुख्य आरोपी महंत पर दुष्कर्म और हत्या जबकि महंत के चेला व गाड़ी चालक के खिलाफ जानकारी को छिपाये रखने का तथ्य सामने आया। इसी आधार पर आरोपियों पर कार्रवाई करते हुये चार्जशीट दाखिल की गयी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *