13 C
London
Thursday, May 23, 2024

Ahmed Khabeer

Ahmed Khabeer working as an Associate Editor with Reporetlook. He covers stories ranging from politics and development to women and minorities’ issues. With over five years of experience,
spot_img

ऑनर किलिंग, प्रेम विवाह से नाराज चाचा ने भतीजी की गला रेतकर कर की  हत्या

उत्तर प्रदेश के सीतापुर जनपद पिसावां थाना क्षेत्र में एक चाचा ने अपनी  भतीजी के प्रेम विवाह से नाराजगी पर उसकी गला रेतकर हत्या कर दी।पुलिस मामले की जांच कर रही है।प्रेम विवाह करने से नाराज चाचा ने सगी  भतीजी की गला रेतकर हत्या कर दी और स्वयं  थाने पहुंचकर घटना की जानकारी दी। पिसावां थानाक्षेत्र के बाजनगर निवासी संतरा (19) अपने पिता पुतान सिंह के साथ गाजियाबाद में रहती थी।गांव निवासी रूपचंद्र मौर्य के साथ वह छह माह पहले गाजियाबाद से चली गई थी और अपने  प्रेमी  संग विवाह कर लिया था। पिछले लगभगदस दिन से रूपचंद्र और संतरा गांव में आकर ही रहने लगे थे। प्रेम विवाह से संतरा के परिजन नाराज थे।शनिवार दोपहर बाद संतरा गांव में ही चाचा के घर के पास से गुजर रही थी। इसी दौरान उसके चाचा ने धारदार हथियार से गला रेतकर उसकीहत्या कर दी और खुद ही थाने जाकर घटना की जानकारी दी। पुलिस मौके पर जांच कर रही है लेकिन हत्यारोपी के खुद ही थाने पहुंचने की बातपर चुप्पी साधे है।

अफजाल अंसारी की संसद सदस्यता खत्म, पिता की राजनीतिक विरासत को संभाल सकती है बेटी नूरिया

कृष्णानंद राय हत्या मामले में सजा के ऐलान के बाद बसपा सांसद अफजाल अंसारी की संसद सदस्यता को खत्म कर दिया गया है। इसके...

मैनपुरी की जेल अधीक्षक कोमल मंगलानी का चढ़ा पारा, मंच पर ही बोल गईं अनाप शनाप

मैनपुरी: उत्तर प्रदेश के मैनपुरी से जेल अधीक्षक का एक वीडियो सोशल मेडिया पर तेज़ी से वायरल हो रहा है। उस वीडियो में जेल अधीक्षक कोमल मंगलानीखुलेआम सिपाहियों को गाली देने की बात करती दिख रही है। वायरल वीडियो ने मैनपुरी से राजधानी लखनऊ तक अधिकारियों के बीच माहौल को गरमादिया है। आनन-फानन में जेल अधीक्षक के खिलाफ जांच बैठा दी गई है। इस वीडियो में जेल अधीक्षक एक सिपाही का नाम लेकर अपशब्दों का प्रयोगकरती दिख रही हैं। सोशल मीडिया ख़ासकर ट्विटर पर इस वीडियो के वायरल होते ही जेल अधीक्षक के खिलाफ लोगों ने कमेंट करना शुरू कर दिया। इसप्रकार की भाषा पर तत्काल कार्रवाई की मांग उठने लगी है। जेल डीजी ने इस वीडियो के सामने आने के बाद जांच बैठा दी है। माना जा रहा है कि जेलअधीक्षक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी हो सकती है।यूपी: मैनपुरी जेल अधीक्षक कोमल मंगलानी को सुना जाए. pic.twitter.com/5SAqMjaFq1— Ranvijay Singh (@ranvijaylive) May 6, 2023क्या है पूरा मामला?अम्बेडकर जयंती के मौके पर जेल लाइन में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस कार्यक्रम में मैनपुरी जेल अधीक्षक कोमल मंगलानी भी कार्यक्रममें पहुंची थी। कार्यक्रम के दौरान जेल अधीक्षक कोमल मंच पर ही मौजूद थीं। उसी दौरान कुछ पुलिसकर्मी आपस में बात करने लगे। इसे देख कर जेलअधीक्षक कोमल मंगलानी का पारा हाई हो गया। वह चिल्ला पड़ीं। उन लोगों पर फटकार लगाते हुए उन्हें खरी-खोटी सुना दिया। जेल अधीक्षक यही नहींरुकी। उन्होंने कहा तुम लोगों गाली देने का मन करता है। उन्होंने सिपाहियों को वाहियात श्रेणी का करार दे दिया। बताया जा रहा है कि कार्यक्रम को लेकरचंदा न मिलने से जेल अधीक्षक काफ़ी नाराज थीं।चंदा न मिलने का भी जिक्रवायरल वीडियो में जेल अधीक्षक कहती दिख रही हैं कि आप लोगों ने इंट्रेस्ट नहीं लिया, इसलिए तैयारियां उतनी उम्दा नहीं दिख रही। उन्होंने पिछली बार केकार्यक्रम का जिक्र किया। जेल अधीक्षक ने कहा कि ये बड़े शर्म की बात है, आप लोगों ने सहयोग नहीं किया। हमारे संविधान के लिए उन लोगों ने इतनाकुछ किया। आप लोगों के पास 100, 200, 500 रुपए नहीं हैं। शेम ऑन यू...। इन लोगों ने घर- घर जाकर सहयोग के लिए कहा। आप लोगों में इतनीतमीज नहीं है कि आप इन लोगों का सहयोग करें।जेल अधीक्षक ने यह भी आरोप लगाया कि 50, 100 रुपए तो आप बंदी को थप्पड़ मार कर ले लेते हैं। सिपाहियों में से किसी ने जेल अधीक्षक कावीडियो शूट कर लिया। इसे इंटरनेट पर वायरल कर दिया। अब इस मामले में डीजी जेल ने जांच के आदेश दे दिया है।डीजी जेल ने बैठाई जांचजेल अधीक्षक कोमल का वीडियो वायरल होने के बाद जेल डीजी ने इस मामले की जांच के आदेश जारी कर दिए हैं। डीजी जेल की ओर से ट्वीट कर कहागया है कि मीडिया में मैनपुरी जेल अधीक्षक कोमल मंगलानी का एक वीडियो प्रसारित हो रहा है। इसकी जांच के लिए वरिष्ठ जेल अधीक्षक, सहारनपुरअमिता दुबे को नामित किया गया है। वे पूरे मामले की जांच कर अपनी रिपोर्ट देंगी। इस रिपोर्ट के आधार पर आगे कार्रवाई की जाएगी।

पाकिस्तान को खुफिया जानकारी देनेके आरोप में DRDO वैज्ञानिक प्रदीप कुरुलकर गिरफ़्तार

महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधी दस्ते ने जासूसी के आरोप में पुणे से रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) के एक वैज्ञानिक प्रदीप कुरुलकर कोगिरफ्तार किया है। पुलिस के मुताबिक़ , पुणे में डीआरडीओ के वैज्ञानिक ने अपने आधिकारिक कर्तव्यों का पालन करते हुए, व्हाट्सएप के द्वारा  सेपाकिस्तान की खुफिया एजेंसी (पीआईओ) के गुर्गों के साथ संपर्क पाया।एक आधिकारिक बयान में कहा गया है, "एक जिम्मेदार पद पर होने के बावजूद, डीआरडीओ के अधिकारी ने संवेदनशील सरकारी रहस्यों से समझौताकरते हुए अपने पद का दुरुपयोग किया है, जो भारत की सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर सकता है।"DRDO  के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया, हमारी जांच में यह साबित होने के बाद कि वह संवेदनशील सूचनाएं लीक कर रहे थे, वैज्ञानिक कोप्रयोगशाला निदेशक के पद से तत्काल हटा दिया गया है।  कुरुलकर 2022 से ही पाकिस्तानी खुफिया एजेंट के संपर्क में था। महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधी दस्ते (ATS) ने कुरुलकर को सरकारी गोपनीयताकानून के तहत पुणे से गिरफ्तार किया था। यह हनीट्रैप में फंसाकर गोपनीय जानकारी जुटाने का मामला है। पाकिस्तान की महिला खुफिया एजेंट नेव्हॉट्सएप के जरिये आरोपी से संपर्क किया था और तभी से वे व्हाट्सएप मैसेज और वीडियो कॉल के जरिये लगातार संपर्क में थे। एटीएस अधिकारीके अनुसार पूछताछ के दौरान कुरुलकर ने माना कि उसने महिला के साथ वीडियो चैट की थी।  

आर्यन ख़ान को जेल भेजने वाले जज को करना चाहिए था सस्पेंड, वरिष्ठ अधिवक्ता ने उठाए मजिस्ट्रेट पर प्रश्न

नई दिल्ली। आर्यन ख़ान मामले में वरिष्ठ अधिवक्ता दुष्यंत दवे ने बहुत बड़ी टिप्पणी की है। दुष्यंत दवे ने मामले में न्यायिक प्रक्रिया पर...

Subscribe

- Never miss a story with notifications

- Gain full access to our premium content

- Browse free from up to 5 devices at once

Must read

spot_img