भोपाल, एएनआइ। मध्य प्रदेश के गुना जिले में एक बेहद बर्बर और भयानक घटना सामने आई है, जिसमें एक आदिवासी महिला को अपने पति के परिवार के एक सदस्य को अपने कंधों पर उठाकर तीन किलोमीटर तक चलने के लिए मजबूर होना पड़ा। घटना के वीडियो व्यापक रूप से वायरल हो रहे हैं, जिसमें महिला के आस पास लाठी और क्रिकेट बैट के साथ ग्रामीणों को चलता हुआ देखा जा सकता है। इनमें कुछ मुस्कुराते हुए चेहरे भी हैं, जो महिला का अपमान होता देख आनंद ले रहे हैं। वहीं, कुछ ने महिला पर लाठी का इस्तेमाल भी किया। बताया गया कि महिला को एक लड़के को ऊपर बैठाकर दौड़ने को कहा गया था, जैसे ही वह धीमी पड़ती तो उसपर वार किया जाता। यह घटना गुना जिले के सगई और बनस खेड़ी गांवों के बीच हुई। 

पुलिस ने कहा है कि मामला दर्ज कर लिया गया है और अब तक चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस अधीक्षक (एसपी) राजीव मिश्रा ने बताया कि यह घटना 9 फरवरी को हुई थी और मैं 10 फरवरी को जोइन हुआ था। वायरल वीडियो के संबंध में जांच शुरू की गई और मामला दर्ज किया गया और अब तक चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

मिश्रा ने बताया, ‘महिला को उसके ससुराल वालों द्वारा दंडित किया गया, क्योंकि उसने अपने पति को छोड़ दिया था और किसी अन्य पुरुष के साथ रहना शुरू कर दिया था। यह इस क्षेत्र में प्रतिगामी परंपरा है।’ मामले की जांच की जा रही है।

वही, मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, महिला की शिकायत में बताया गया कि वह आपसी सहमति से अपने पति से अलग हो गई थी और किसी अन्य पुरुष के साथ रिलेशन में थी। हालांकि, पिछले सप्ताह उसके पहले पति के परिवार के सदस्य और उस गांव के अन्य लोग उसके घर आए और उसे साथ ले गए व ऐसे दंडित करने की बात कही। 

बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब मध्य प्रदेश से ऐसी भयावह घटना सामने आई हो। पिछले साल जुलाई में भी एक महिला के साथ ऐसे ही किया गया था। झाबुआ जिले से सामने आए एक वीडियो में, वह अपने पति को कंधे पर लादकर ले जाती हुई दिखाई दे रही थी और ग्रामीणों द्वारा उसे घेरा हुआ था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *