13.5 C
London
Saturday, May 18, 2024

मंदिर के नाम पर आम रास्ते पर किया क़ब्ज़ा पुलिस ने किया 9 को गिरफ़्तार, गाँव में तनाव

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

राजस्थान के झुंझुनूं जिले के गांगियासर गाँव के रायमाता मंदिर की जमीन से रास्ता खुला रखने की बात को लेकर दिन भर तनाव की स्थिति बनी रही। महंतों ने मंदिर की जमीन में तारबंदी कर रास्ता बंद कर दिया था, लेकिन प्रशासन ने उसे हटवा दिया .

मंदिर के महंत दशमगिरी ने आरोप लगाया कि मंडावा विधायक रीटा चौधरी के दबाव में प्रशासन ने यह कार्रवाई की है। पुलिस ने गांगियासर के 9 लोगों को शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार भी किया है। बताया जा रहा है कि मंदिर के महंत दशमगिरी व अन्य लोग मंदिर की जमीन पर पूर्णतया तारबंदी के पक्ष में थे। वहीं गाँव के कुछ लोगों की रास्ता बंद होने को लेकर आपत्ति थी। 

मामले को निपटाने के लिए एसडीएम शकुंतला चौधरी, डीएसपी भंवरलाल, तहसीलदार बबीता, नायब तहसीलदार जगदीशप्रसाद मीणा, थानाधिकारी रिया चौधरी, मलसीसर एसएचओ मुकेश कुमार के अलावा बगड़ व मंडावा एसएचओ तथा पुलिस लाइन से पर्याप्त जाप्ता गाँव पहुँच गया। प्रशासन ने मंदिर के महंत दशमगिरी, बिसाऊ गणेशनाथ आश्रम के महंत रविनाथ व मंदिर कमेटी के अन्य सदस्यों से चर्चा की लेकिन बात नहीं बनी।

पूरे घटनाक्रम को लेकर महंत दशमगिरी ने जहाँँ प्रशासन पर दबाव डालने का आरोप लगाया है, वहीं गणेशनाथ आश्रम बिसाऊ के महंत रविनाथ ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने पूरी कार्रवाई विधायक रीटा चौधरी व जिला कलेक्टर के दबाव में की है।

जिले के आला अधिकारी सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल दिन भर मंदिर परिसर में तैनात रहे। वहीं पुलिस प्रशासन के अधिकारी दिन भर गुप्त बैठकें करते रहे। मौके पर पहुँचे एडीएम गौड़ भी पूरे मामले में चुप्पी साधे रहे

वही अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के तरफ़ से आरोप लगाया गया कि महंतो ने आम रास्ते पर तारबंदी कर क़ब्ज़ा कर लिया गया है जब पर्शासन को इस बाबत अवगत करवाया गया तो उन्हें रास्ता खुलवाया लेकिन फिर बहुसंख्यक समाज के कुछ लोगों ने गाँव में सम्प्रदायक तनाव बढ़ाने की कोशिश की तो 9 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here