मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निवास स्थल गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में लगे पीएसी सिपाहियों पर रविवार की शाम एक युवक ने धारदार हथियार (दाव-हंसिया) से हमला कर सनसनी फैला दी।

धार्मिक नारा लगाते हुए मंदिर में घुसने की कोशिश कर रहे युवक को हथियार के साथ दबोच लिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास गोरखनाथ मंदिर के मुख्य दक्षिणी गेट पर हुई सनसनीखेज वारदात में लहुलूहान दोनों सिपाहियों को गोरखनाथ चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। घटनास्थल से पुलिस को एक बैग मिला है जिसमें लैपटाप, पैन कार्ड, आधार, गोरखपुर से दिल्ली जाने का 28 मार्च हवाई टिकट है।

पकड़ा गया युवक अहमद मुर्तजा अब्बासी सिविल लाइंस के पार्क रोड स्थित अब्बासी नर्सिंग होम के पास का रहने वाला है। उसके आधार कार्ड पर मिलेनियम टावर नवी मुंबई का पता लिखा है। उसने आइआइटी मुंबई से केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। पुलिस मुर्तजा के पिता मुनीर से पूछताछ कर रही है। हमलावर के साथ एक और युवक के होने की आशंका में गोरखनाथ मंदिर और आसपास के इलाके में तलाशी चल रही है।

गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा में लगी पीएसी की 20वीं बटालियन, आजमगढ़ में तैनात सिपाही गोपाल कुमार गौड़ और अनिल कुमार पासवान की डयूटी थाने के सामने मुख्य दक्षिणी गेट पर थी। रविवार की शाम करीब सात बजे मंदिर के उत्तरी, पूर्वी गेट को पारकर बरगदवा की तरफ से आया एक युवक मुख्य गेट पर तैनात सिपाही गोपाल कुमार के करीब पहुंचा और उनकी एसएलआर (स्वचलित रायफल) छीनने लगा।

गोविंद जब तक संभलते हमलावर ने कमर में लगा दाव निकालकर हमला कर दिया। शोर सुनकर खड़े सिपाही सुनील दौड़े तो हमलावर ने उनके पैर पर भी हमलाकर लहुलूहान कर दिया। अन्य सुरक्षाकर्मियों को करीब आता देखकर हमलावर अल्ला-हू-अकबर का नारा लगाते हुए मंदिर गेट के अंदर घुस गया। साइकिल स्टैंड गेट के सामने पिकेट के पास सिपाही अनुराग, अनिल ने उसे दबोच लिया।

सुरक्षाकर्मियों पर हमले की खबर फैलते ही पुलिस-प्रशासन के उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचे और घायल सिपाहियों को गोरखनाथ चिकित्सालय में भर्ती कराया। उधर, एसएसपी विपिन ताडा आरोपित मुर्तजा को लेकर जिला अस्पताल आ गए, जहां उसे भर्ती कराया गया है। हमलावर के पिता मुनीर मुर्तजा के घर पहुंची पुलिस पूछताछ कर रही है।

बोला हमलावर, कोई मुझे गोली मार दे : जिला अस्पताल में भर्ती होने से पहले मीडिया से बातचीत में अहमद मुर्तजा ने बताया कि वह उसकी शादी हुई थी। पत्नी छोड़कर चली गई थी। नौकरी छूट गई थी। इससे अवसाद में रहता था। उसका कहना है कि वह कई रातों से सो नहीं पाया था। परेशान चल रहा था। चाहता था कि कोई उसे गोली मार दे। इसलिए उसने पुलिस वालों पर हमला किया था।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment