दिसपुर: असम (Assam) के दीमा हसाओ (Dima Hasao) जिले से बड़ी खबर आ रही है. जहां संदिग्ध उग्रवादियों ने बीती रात सात ट्रकों को आग के हवाले कर दिया. इससे पांच लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. पुलिस ने बताया कि दिसमाओ गांव (Dismao Village) के पास उमरंगसो-लंका रोड (Umrangso Lanka Road) पर यह नृशंस घटना हुई. 

रिपोर्ट्स के अनुसार, मारे गए सभी लोग ट्रक ड्राइवर है. पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. फिलहाल किसी उग्रवादी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. प्रारंभिक जांच के बाद पुलिस ने इसके पीछे संदिग्ध डीएनएलए (DNLA) उग्रवादी समूह के होने की आशंका जताई है. पुलिस ने कहा कि उग्रवादियों ने दो ट्रक ड्राइवरों की गोली मारकर हत्या कर दी जबकि तीन अन्य को उनके वाहनों के साथ जलाकर मार डाला.

पुलिस ने बताया दीमा हसाओ जिले में संदिग्ध उग्रवादियों ने कोयला ले जा रहे पांच ट्रक चालकों की हत्या कर दी और उनके वाहनों में आग लगा दी. पुलिस ने बताया कि दियुनमुख पुलिस थाने से करीब पांच किलोमीटर दूर रंगेरबील इलाके में गुरुवार रात ‘दिमासा नेशनल लिबरेशन आर्मी’ के संदिग्ध उग्रवादियों ने ट्रकों पर गोलियां चलायी.

उन्होंने बताया कि ट्रक दीमा हसाओ के उमरांगशु से कोयला लेकर होजई जिले के लंका जा रहे थे. ट्रक मालिकों ने दावा किया कि उग्रवादियों ने उनसे पैसे की मांग की थी. उन्होंने अधिकारियों से पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित करने का आग्रह किया. जिला पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इलाके में सुरक्षा बढ़ा दी गई है. इलाकें में  असम राइफल्स की मदद से व्यापक तलाशी अभियान शुरू किया गया है.

इस बीच, नवगठित उग्रवादी समूह नेशनल लिबरेशन फ्रंट ऑफ बोडोलैंड (एनएलएफबी) के कम से कम 60 सदस्यों ने मंगलवार को असम के उदलगुरी जिले में हथियारों और गोला-बारूद के साथ पुलिस के सामने आत्मसमर्पण किया. उग्रवादियों ने आठ एके-56 राइफल, मैग्जीन के साथ दो एसएलआर, चार देसी बंदूक और तीन बोतल ‘गन पाउडर’, पांच एचई-36 हथगोले और विस्फोटक, मैग्जीन के साथ एक एफ228 पिस्तौल, कारतूस के साथ दो 7.61 एमएम पिस्तौल, कारतूस के साथ एक 7.65 एमएम पिस्तौल भी पुलिस को सौंपी.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment